नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है. हालांकि इस बीच केंद्र सरकार द्वारा लोगों को रियायते भी दी गई हैं. सरकार के आदेश के बाद कई धार्मिक स्थलों को खोल दिया गया है. इसी बीच सिख धर्म के पवित्र स्थान हरमिंदर साहब और दिल्ली स्थित बंगला साहिब को खोल दिया गया है. हालांकि यहां भी कई तरह की नियमों के पालन करने को लेकर आदेश जारी किया जा चुका है. Also Read - Coronavirus in Jharkhand: कोविड-19 संक्रमण के 42 और मामलो के साथ संक्रमित लोगों की संख्या हुई 2739

बता दें कि बंगला साहिब में हजारों लोग हर दिन मत्था टेकने आते हैं. कोरोना वायरस के फैलने व लॉकडाउन के बाद से ही गुरुद्वारे को बंद कर दिया गया था. लोगों के यहां आने पर रोक लगा दी गई थी. हालांकि अब 8 जून से इसे खोल दिया गया है. इस दौरान मत्था टेकने आने वालों के लिए कई तरह के नियम भी बनाए गए हैं. साथ ही कई तरीकों को भी बदल दिया गया है. Also Read - कोरोना के नए प्रकार के कारण वैश्विक स्तर पर संक्रमण के बढ़े मामले, जानिए इसके पीछे की वजह

बता दें कि गुरुद्वारे में आने जाने के लिए दो अलग अलग गेट बनाए गए हैं. ऐसा इसलिए किया गया है ताकि कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो सके. साथ ही पैर धोने, हाथों को सैनिटाइज करने इत्यादि की भी व्यवस्था की गई है. यही नहीं यहां आने वालों के लिए थर्मल स्क्रीनिंग की भी व्यवस्था की गई है. अगर आपके शरीर का तापमान सामान्य होगा तो आपको अंदर जाने दिया जाएगा वरना आपको रोक दिया जाएगा. बता दें कि लंगर खिलाने को लेकर भी नियम बनाए गए हैं. लंगर में खाना खिलाने के दौरान 6 फीट की दूरी बनाए रखने को कहा गया है. Also Read - दिल्ली में कोरोना के 2,505 नए मामले सामने आए, 10 लाख की आबादी पर किए जा रहे 32,650 टेस्ट