अगरतला/गुवाहाटी: असम और त्रिपुरा की सरकारों ने बांग्लादेश सहायक उच्चायोगों की सुरक्षा बढ़ा दी है. नागरिक संशोधन अधिनियम के विरोध में चल रहे प्रदर्शन के मद्देनजर बांग्लादेश सहायक उच्च आयोग की सुरक्षा को कड़ा कर दिया गया है. नागरिक संशोधन विधेयक पारित होने के बाद से हफ्ते की शुरुआत में शुरू हुए इन हिंसक प्र्दशनों में कमी आ रही है और स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है. असम में हालात बदल रहे हैं, जबकि त्रिपुरा, मिजोरम, मणिपुर, मेघालय और अन्य पूर्वोत्तर राज्य लगभग सामान्य हैं.

गुवाहाटी और अगरतला के अधिकारियों ने कहा कि बांग्लादेश सहायक उच्चायोग के कार्यालयों की सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और दोनों राजनीतिक भवन परिसरों के आस-पास अतरिक्त बलों की तैनाती की गई है. बांग्लादेश मीडिया ने बताया कि कार्यवाहक विदेश सचिव कमरूल अहसन ने ढाका स्थित विदेश मंत्रालय में बांग्लादेश की भारतीय उच्चायुक्त रीवा गांगुली दास के साथ बैठक की और मेजबान सरकार द्वारा भवन कर्मियों और संपत्तियों की सुरक्षा का अनुरोध किया.

मीडिया ने बंग्लादेश के विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के हवाले से कहा, “रीवा गांगुली ने आश्वासन दिया कि गुवाहाटी में बांग्लादेश सहायक उच्चायोग के कार्यालय और आवासीय परिसर की सुरक्षा बढ़ाने के लिए भारत सरकार से संबंधित अधिकारियों को सतर्क किया जा रहा है.”

(इनपुट आईएएनएस)