बेंगलुरु: सोशल मीडिया पर एक राजनेता के रिश्तेदार द्वारा पोस्ट किए गए ‘आपत्तिजनक मैसेज’ को लेकर मंगलवार देर रात पूर्वी बेंगलुरु में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ. हिंसक भीड़ ने कांग्रेस विधायक अकांदा श्रीनिवास मूर्ति के घर के बाहर एकत्र होकर पोस्ट के खिलाफ नारेबाजी की और आगजनी भी की. लोग श्रीनिवास मूर्ति के रिश्तेदार नवीन की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे. लोगों ने डीजे हल्ली, केजी हल्ली और पुलकेशी नगर में भी विरोध प्रदर्शन किया. इस हिंसक विरोध प्रदर्शन में 3 लोगों की मौत हो चुकी है वहीं 60 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए हैं. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने सैकड़ों वाहनों को आग के हवाले कर दिया और एटीएम मशीनों को भी तोड़ा. Also Read - Bengaluru Riots: 60 और आरोपी अरेस्‍ट, अब तक कुल 206 लोग गिरफ्तार

इस बाबत कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने ट्वीट कर हिंसा की निंदा की और कहा कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आदेश दिया जा चुका है, सरकार भी भीड़ के खिलाफ सही एक्शन ले रही है. पुलिस और लोगों पर हमला करना उचित नहीं है, ये बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. लोग शांति बनाकर रखें. बता दें कि इस घटनाक्रम में अबतक 3 लोगों की मौत हो चुकी है और 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है. Also Read - सोशल मीडिया पर अपमानजनक पोस्ट करने वाला शख्स गिरफ्तार, कांग्रेस विधायक का है रिश्तेदार!

बता दें कि बीती रात पुलिकेशी नगर के विधायक मूर्ति ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट कर भीड़ को प्रदर्शन रोकने के लिए कहा. वीडियो में मूर्ति अपील करते हुए कह रहे थे, “कृपया कुछ बदमाशों के शरारती कार्य को लेकर हिंसा का सहारा न लें.” शहर में केजी हल्ली पुलिस स्टेशन के सामने भी बड़ी भीड़ नजर आई. वहीं अन्य हिंसक भीड़ ने डीजे हल्ली पुलिस स्टेशन में घुसकर कुछ वाहनों और फर्नीचर की तोड़फोड़ की और कुछ पुलिसकर्मियों पर हमला करने की भी कोशिश की. कई तस्वीरें वायरल हुई हैं, जिनमें डीजे हल्ली पुलिस स्टेशन के बाहर बर्बरता स्पष्ट नजर आ रही है. Also Read - राजस्थान प्रकरण पर सुनवाई सोमवार के लिए स्थगित: पायलट, असंतुष्ट विधायकों को चार दिन की राहत मिली

चामाराजपेट से विधायक बी. जेड. जमीर अहमद खान ने भी हिंसक भीड़ से अनुरोध किया कि वे शांत रहें और इलाके में शांति बनाए रखें. खान ने कहा, “कवल बिसंद्रा में होने वाली घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. मुझे उम्मीद है कि पुलिस उन सभी के खिलाफ कार्रवाई करेगी जो इसके लिए जिम्मेदार हैं.” एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि शहर के पुलिस आयुक्त कमल पंत ने विरोध प्रदर्शन प्रभावित इलाकों का दौरा किया, जहां भारी पुलिस की तैनाती की गई है.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “डीजे हल्ली और केजी हल्ली जैसे इलाकों में दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं हुई हैं. स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस प्रयास कर रही है.” राज्य के गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने भी कानून को हाथ में लेने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी है.

(इनपुट-आईएएनएस)