नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में पहली बार हुए खंड विकास परिषद (बीडीसी) चुनावों में हुए भारी मतदान का श्रेय राज्य के विशेष दर्जे को खत्म करने वाले फैसले को जाता है. उन्होंने एक ट्वीट में लिखा, ‘‘भारतीय संसद के फैसले का धन्यवाद, युवा और जोशीले जनप्रतिनिधि अब जम्मू और कश्मीर के सभी क्षेत्रों के लोगों के भाग्य को आकार देंगे.’’

जम्मू-कश्मीर में पहली बार हुए बीडीसी चुनावों में गुरुवार को रिकॉर्ड 98.3 प्रतिशत मतदान हुआ. इस दौरान 27 प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए, जिनमें 22 भारतीय जनता पार्टी के हैं. कांग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रैंस और पीडीपी ने इन चुनावों का बहिष्कार किया है.प्रधानमंत्री ने एक अन्य ट्वीट में कहा, ‘‘मैं जम्मू-कश्मीर पर ऐतिहासिक निर्णय के लिए एक बार फिर दलगत स्तर से ऊपर सभी सांसदों को बधाई देता हूं.

हरियाणा में चुनाव जीते निर्दलीय रणधीर गोलन ने कहा- 30 साल बीजेपी कार्यकर्ता रहा हूं, भाजपा मेरी मां है

भारतीय संसद को गर्व होगा कि इस साल अगस्त में उनके ऐतिहासिक निर्णय के कारण जम्मू-कश्मीर के लोग अप्रत्याशित उत्साह के साथ अपने लोकतांत्रिक अधिकारों का इस्तेमाल कर सके, जो बिना किसी हिंसा और व्यवधान के ऐतिहासिक 98 प्रतिशत मतदान के रूप में दिखाई दिया.’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यह बताते हुए खुशी है कि जम्मू-कश्मीर, लेह और लद्दाख में बीडीसी चुनावों बेहद सफलता के साथ सम्पन्न हुए. कोई हिंसा नहीं हुई. ये लोकतंत्र में लोगों के अटूट विश्वास को दर्शाता है.’’