श्रीनगरः निर्वाचन अधिकारियों ने जम्मू कश्मीर के 310 ब्लाकों में ब्लॉक विकास परिषदों के अध्यक्षों के चुनाव के लिए मंगलवार को अधिसूचना जारी कर दी. मुख्य निर्वाचन अधिकारी शैलेंद्र कुमार ने अधिसूचना जारी करते हुए कहा कि 24 अक्टूबर को चुनाव होंगे. अधिसूचना के मुताबिक, नामांकन दाखिल करने की अंतिम तारीख नौ अक्टूबर है जबकि नामांकन पत्रों की जांच 10 अक्टूबर को की जाएगी. नामांकन वापस लेने की तारीख 11 अक्टूबर है.

पाकिस्तान ने दुनिया के सामने शांति के बदले विनाश का विकल्प सामने रखाः उपराष्ट्रपति

कुमार ने बताया कि 24 अक्टूबर को सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक मतदान होगा. मतों की गिनती भी उसी दिन दोपहर तीन बजे से शुरू हो जाएगी. उन्होंने बताया कि चुनाव की यह प्रक्रिया पंचायती राज व्यवस्था का दूसरा स्तर है जो पांच नवंबर तक संपन्न होगी. कुमार ने बताया कि यह चुनाव दलगत आधार पर होंगे और 26,629 पंच और सरपंच मतदान करने और बीडीसी अध्यक्ष का चुनाव लड़ने के योग्य हैं.

आतंकियों को फंडिंग करने वाले पाक को FATF कभी भी ब्लैक लिस्ट में डाल सकती है : राजनाथ

उन्होंने बताया कि विभिन्न कारणों से पंचों और सरपंचों के करीब 24 फीसदी (12,766) पद खाली पड़े हैं. मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जम्मू संभाग से 18,000 से ज्यादा पंच एवं सरपंच चुनाव में हिस्सा ले सकते हैं, जबकि कश्मीर संभाग में सिर्फ 7,528 निर्वाचित पंच एवं सरपंच हैं. लद्दाख क्षेत्र के करगिल में 841 और लेह में 744 मतदाता हैं.

यूपी में एनआरसी लागू करेगी योगी सरकार! भगाए जाएंगे अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिक

कश्मीर क्षेत्र में, कुपवाड़ा में 2,783, बारामूला में 1,450,बांदीपोरा में 584, गांदरबल में 374, श्रीनगर में 43, बडगाम में 650, पुलवामा में 132, शोपियां में 82 कुलगाम में 168 और अनंतनाग में 763 मतदाता हैं. चुनाव 316 में से 310 ब्लाकों में होगा. नवम्बर 2012 में, उमर अब्दुल्ला के नेतृत्व वाली नेशनल कॉन्फ्रेंस-कांग्रेस सरकार ने 143 बीडीसी में चुनाव का ऐलान किया था और तत्कालीन सरकार ने मई-जून 2011 में पंचायत चुनाव कराए थे.