कोलकाता: नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में हिंसक रूप ले लिया. इसे एनआरसी का विरोध भी माना जा रहा है. प्रदर्शनकारियों ने रेलवे स्टेशनों में तोड़फोड़ की और आग लगा दी. वे रेल पटरियों और राजमार्गो पर धरना दिया, जिससे ट्रेन सेवाएं और वाहनों की आवाजाही प्रभावित हुई. मुर्शिदाबाद जिले के बेलडंगा रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारी स्टेशन मास्टर के केबिन में घुस गए, टिकट काउंटर पर लूटपाट की, उसके बाद आग लगा दी.

प्रदर्शनकारी हाथ में सीएए और प्रस्तावित एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर) के खिलाफ पोस्टर लिए हुए थे. उन्होंने बेलडंगा स्टेशन की ऐसी हालत कर दी कि कर्मचारियों को जान बचाने के लिए भागना पड़ा. प्रदर्शनकारियों ने रेल पटरियों पर जाम लगा दिया, जिससे लालगोला और कृष्णा नगर के बीच ट्रेनों का परिचालन ठप्प पड़ गया. उन्होंने बेलडंगा में राष्ट्रीय राजमार्ग का अवरुद्ध कर दिया. सड़क पर टायर जलाए और कुछ वाहनों को भी क्षति पहुंचाई.

हावड़ जिले में प्रदर्शनकारी उलूबेरिया स्टेशन में घुस गए और परिसर में तोड़फोड़ की. इस दौरान किए गए पथराव में एक चालक और एक रेलवे अधिकारी घायल हो गए.

(इनपुट भाषा)