कोलकाता: भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने रविवार को कहा कि राज्य में सत्तारूढ़ दल के कार्यकर्ताओं को जूतों से पीटा जाएगा. इस पर, तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बंदोपाध्याय ने उन्हें ऐसा करने की चुनौती दी. घोष ने आरोप लगाया कि राज्य पुलिस बल के कर्मियों का एक समूह उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को धमकी दे रहा है और इसमें शामिल लोगों को छोड़ा नहीं जायेगा. उन्होंने उत्तर 24 परगना जिले में पार्टी कार्यकर्ताओं के एक समूह को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस की 2021 के विधानसभा चुनावों में पराजय होगी. चौराहों पर इसके कार्यकर्ताओं को निर्वस्त्र कर जूतों से पीटा जाएगा.’’ Also Read - MP समेत 11 राज्‍यों की 56 विधानसभा और एक लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव का ऐलान, देखें पूरी डिटेल

उन्होंने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के नेता ‘‘लोगों के बच्चों की शिक्षा का पैसा लूट रहे हैं.’’ घोष ने कहा, ‘‘कुछ पुलिसकर्मी सत्तारूढ़ पार्टी के इशारे पर काम कर रहे हैं. मैं अपनी डायरी में सब कुछ नोट कर रहा हूं. भाजपा कार्यकर्ताओं पर हिंसा करने वाले लोगों के खिलाफ 2021 के चुनावों के बाद मामला दर्ज किया जायेगा.’’ उन्होंने दावा किया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति ध्वस्त हो चुकी है. उन्होंने कहा, ‘‘हर सुबह, हमें हिंसा और हत्या की खबर मिलती है. क्या इसलिए लोगों ने सरकार बदली थी?” Also Read - राज्यपाल धनखड़ की ममता सरकार को चेतावनी, 'बंगाल में संविधान की रक्षा नहीं हुई तो कार्रवाई होगी'

तृणमूल कांग्रेस ने ‘परिवर्तन’ का नारा दिया था और 2011 में पश्चिम बंगाल में माकपा के नेतृत्व वाले वाम मोर्चा के 34 साल के शासन को खत्म कर सत्ता में आई थी. घोष ने कहा, ‘‘यह भाजपा है जो राज्य में बदलाव लाने के लिए लड़ रही है और 100 से अधिक भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपनी जान दी है, बंगाल में जब तक बदलाव नहीं आ जाता, तब तक लड़ाई जारी रहेगी.’’ जूतों से पीटने के घोष के बयान पर आपत्ति जताते हुए तृणमूल कांग्रेस के सांसद कल्याण बंदोपाध्याय ने उन्हें ऐसा करने की चुनौती दी. Also Read - NIA के हाथ लगी बड़ी कामयाबी, पश्चिम बंगाल से अलकायदा का एक और आतंकवादी गिरफ्तार

उन्होंने कहा, ‘‘अगर उनमें हिम्मत है, तो पहले मुझे जूतों से पीट कर दिखाये, मैं उन्हें चुनौती देता हूं.’’ उन्होंने भाजपा नेता को ‘‘अशिक्षित और असभ्य’’ बताया.

(इनपुट आईएएनएस)