जलपाईगुड़ी: पश्चिम बंगाल की पुलिस ने जलपाईगुड़ी जिले में 20 अक्टूबर को एक महिला के साथ हुए बर्बर दुष्कर्म के मामले में तीन आरोपियों के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया. रिपोर्ट के मुताबिक यहां 35 वर्षीय एक महिला के साथ दुष्कर्म के बाद बर्बरता की गई थी.

ये था मामला
इस मामले ने मीडिया में काफी तूल पकड़ा था जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मीडिया को अवगत कराया. हालांकि एक आरोपी अभी भी पुलिस के चंगुल से फरार है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस वारदात के पांच दिन बाद गुरुवार को पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया. आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की संबंद्ध धाराओं के तहत दुष्कर्म, गंभीर रूप से घायल करने और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है. जलपाईगुड़ी के पुलिस अधीक्षक अमिताव मैती ने बताया कि इस मामले में अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है, एक आरोपी फरार है.

बंगाल में निर्भया कांड जैसी दरिंदगी, रेप के बाद महिला के प्राइवेट पार्ट्स में डाली लोहे की रॉड

जघन्य वारदात
यह घटना पीड़िता के घर के नजदीक जलपाईगुड़ी के निरंजन पाट क्षेत्र में हुई. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दुष्कर्म का मुख्य आरोपी महिला का रिश्तेदार है और उसने महिला को विवादित जमीन का मामला सुलझाने के बहाने बुलाया था. उन्होंने बताया कि आरोपी ने महिला का दुष्कर्म के बाद उसके साथ बर्बरता की. अधीक्षक ने बताया कि दो और लोगों ने वारदात में आरोपी का साथ दिया. हालांकि उन्होंने महिला का बलात्कार नहीं किया.

हालत स्थिर
पीड़ित आदिवासी महिला का पति मजदूरी करता है और वह घटना के समय घर से बाहर था. महिला के तीन बच्चे हैं. घटनास्थल से एक रिक्शावाले ने महिला को घर पहुंचाया और उसकी अगली सुबह उसे धूपगड़ी अस्पताल ले जाया गया जहां से उसे जलपाईगुड़ी सदर अस्पताल में भेज दिया गया. सदर अस्पताल में यहां रात में महिला का ऑपरेशन हुआ और उसे गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में रखा गया है. उसकी हालत स्थिर है. (इनपुट भाषा)