बेंगलुरु: कर्नाटक के उप-मुख्यमंत्री जी. परमेश्वर ने राज्यपाल वजुभाई वाला पर आरोप लगाया कि वह राज्य में विधायकों की खरीद-फरोख्त को बढ़ावा दे रहे हैं. परमेश्वर का यह बयान जद(एस) और कांग्रेस के विधायकों के इस्तीफों और उसके कारण राज्य की गठबंधन सरकार के लिए पैदा हुए खतरे के बीच आया है. उन्होंने संवाददातओं से कहा कि जब विधायक इस्तीफा सौंपने गए थे तो हमारे राज्यपाल को उनसे दो घंटे तक बातचीत करने की कोई जरूरत नहीं थी. Also Read - Karnataka Cabinet Expansion: कर्नाटक के CM बीएस येदियुरप्पा ने किया कैबिनेट का विस्तार, इन 7 मंत्रियों ने ली शपथ

Also Read - Karnataka Latest News: 7 नए मंत्री आज 3:30 बजे शपथ लेंगे, सीएम येदियुरप्पा ने बताए ये नाम

परमेश्वर ने कहा, ‘आपने जो तस्वीर प्रकाशित की है उसमें राज्यपाल पुलिस अफसर के साथ बैठे हैं. क्या किसी विधायक को कोई खतरा था, यदि किसी विधायक ने सुरक्षा मांगी होती तो पुलिस सुरक्षा की बात उठती लेकिन राज्यपाल ने पुलिस आयुक्त को बुलाया और दो घंटे तक विधायकों के साथ चर्चा करते रहे.’ Also Read - ब्राजील के राष्ट्रपति की पीएम मोदी से गुहार, खत में लिखा- जल्द भेजिए कोरोना की वैक्सीन

कर्नाटक में कभी भी गिर सकती है जेडीएस-कांग्रेस की सरकार, विधानसभा अध्यक्ष पर टिकी हैं नजरें

उन्होंने कहा, ‘ऐसे हालात में मजबूरन हमें कहना पड़ रहा है कि विधायकों की खरीद-फरोख्त के लिए आप (राज्यपाल) जिम्मेदार हैं.’ कांग्रेस नेता के इस बयान की आलोचना करते हुए भाजपा विधायक आर. अशोक ने कहा कि इस विवाद में राज्यपाल का नाम घसीटा जाना बहुत निंदनीय है.