नई दिल्लीः चर्चित फुटबॉल खिलाड़ी और हाम्रो सिक्किम पार्टी के संस्थापक व अध्यक्ष बाइचुंग भूटिया ने कहा कि वह नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी), 2019 से हताश हैं. स्पोर्ट्स स्टार से राजनेता बने भूटिया ने आईएएनएस से बातचीत में कहा, “मैं सिक्किम के लोगों की तरफ से कह रहा हूं कि हम इस बिल से बहुत हताश हैं, क्योंकि इस बिल से सिक्किम को बाहर रखा गया है, जबकि पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों का लिखित में जिक्र किया गया है. हालांकि गृहमंत्री ने संसद में सिक्किम के बारे में कहा था, लेकिन बिल में लिखा नहीं गया है.”

उन्होंने यह भी कहा कि यह बिल पूरी तरह से अनुच्छेद 371 के खिलाफ है जो सिक्किम के हित और लोगों के अधिकारों की रक्षा करता है. “हम काफी निरुत्साहित हैं.” असम में हो रहे विरोध प्रदर्शन के बाबत भूटिया ने कहा, “हमारा भी वही मुद्दा है जो असम और पूर्वोत्तर के दूसरे राज्यों का है. सिक्किम में तो यह और ज्यादा बड़ा मुद्दा है.

नागरिकता संशोशन विधेयक को राष्ट्रपति ने दी मंजूरी, लागू हुआ कानून

सिक्किम के मूल निवासियों को सिरे से गायब कर दिया गया है और उन पर लगातार खतरा बना हुआ है.” उन्होंने कहा कि बेरोजगारी आज सबसे बड़ी चुनौती है, जिसका सामना आज सिक्किम कर रहा है. यह विधेयक सिक्किम के लोगों की भावनाओं के खिलाफ है.