नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान पर कांग्रेस (Congress) द्वारा भारत बचाओ रैली (Bharat Bachao Rally) की जा रही है. ये रैली केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ की जा रही है. रैली कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) और राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के नेतृत्व में हो रही है. पी चिदंबरम सहित कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता यहां मौजूद हैं.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने बीजेपी और केंद्र सरकार हमला बोला. सोनिया ने कहा कि कभी-कभी ज़िंदगी में ऐसा वक़्त आता है जब आर-पार का फैसला करना पड़ता है. आज किसानों की हालत खराब है. किसान मजदूर खून पसीना बहाते हैं लेकिन उन्हें दो वक़्त की रोटी भी नहीं मिल रही है. दशकों पहले भी ऐसी बेरोजगारी नहीं थी.

सोनिया ने कहा कि आज पूरा देश पूछ रहा है कि कहाँ है सबका साथ सबका विकास. रोजगार क्यों चले गए. अर्थव्यवस्था क्यों बर्बाद हो गई. नोटबंदी के बाद काला धन क्यों नहीं आया. वो काला धन किसके पास है, इसकी जांच होनी चाहिए. इस बात की जांच होनी चाहिए या नहीं कि हमारी नवरत्न कंपनियां क्यों और किसे बेंची जा रही है. आज बैंकों में भी पैसा सुरक्षित नहीं है. ऐसा क्यों है. आदमी बैंक में पैसा रख सकता है और न घर में.

राहुल गांधी का बीजेपी पर हमला, कहा- मैं राहुल सावरकर नहीं, मैं राहुल गांधी हूं, माफ़ी नहीं मांगूंगा

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा- ये लोग संविधान के मुताबिक़ काम होने का दावा करते हैं लेकिन हर रोज संविधान की धज्जियाँ उड़ाते हैं. ये लोग नागरिकता संशोधन एक्ट लाये हैं. ये देश की आत्मा को तार तार कर देगा. हमारे पूर्वजों ने इस देश को बनाने के लिए कड़ी मेहनत की थी. हम ऐसा नहीं होने देंगे। मैं विश्वास दिलाते हैं कि हम देश को नहीं टूटने देंगे.

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह का एक ही एजेंडा है कि लोगों को लड़वाओ और अपनी कमियां छिपाओ. नाइंसाफी सहना भी अपराध है और इसलिए हम संविधान को बचाने के लिए हम हर तरह के संघर्ष के लिए तैयार हैं. हम कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं. कांग्रेस ने आज़ादी की लड़ाई लड़ी और आज भी हम पीछे नहीं हटेंगे. हम अपना कर्तव्य निभाकर रहेंगे.