नई दिल्ली. ट्रेड यूनियन ने दो दिन के भारत बंद की घोषणा की है. इससे सामान्य जीवन पर बड़ा असर पड़ा है. पश्चिम बंगाल, ओडिशा और केरल से छिटपुट हिंसा की खबरें आ रही हैं. पश्चिम बंगाल में टायरें जलाई गई हैं और तोड़फोड़ हुई हैं. प्रदर्शनकारियों ने कई जगह सड़कें ब्लॉक कर दी हैं और ट्रेन सेवाओं को भी प्रभावित किया है. बता दें कि देश के लगभग 20 करोड़ सेंट्रल ट्रेड यूनियन कर्मचारी दो दिन के हड़ताल पर हैं. 7 प्वाइंट में जानिए सबकुछ…

1. कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस और सीपीएम के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की खबर है. सबसे ज्यादा असर आसनसोल और हुगली में देखने को मिला है. आसनसोल में प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने लाठी चार्ज किया है.

2. कोलकाता से 30 किलोमीटर दूर बरासात में एक स्कूल बस को प्रदर्शनकारियों ने आग के हवाले कर दिया. बस में दो छात्र सवाल थे, हालांकि दोनों सुरक्षित हैं. आसनसोल और हुगली में भी बसों में तोड़फोड़ की गई हैं. जादवपुर, सोदेपुर और उत्तरपुर में ट्रेन सेवा को बाधित करने की कोशिश की गई है.

3. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि उनकी सरकार किसी भी तरह के बंद का विरोध करती है. हमने फैसला लिया है कि हम किसी तरह के बंद का विरोध करेंगे. उन्होंने कहा कि पिछले 34 साल से लेफ्ट फ्रंट ने बंद के नाम पर काफी कुछ नष्ट किया है.

4. ओडिशा में ट्रेड यूनियन सीटीयू कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया और सड़कें जाम की. प्रदर्शनकारियों ने नेशनल हाईवे-16 को भी बंद कर दिया और टायरें जलाई.

5. केरल में प्रदर्शनकारी रेलवे ट्रैक पर बैठ गए. उन्होंने केंद्र सरकार पर आम जनता के खिलाफ नीति बनाने का आरोप लगाया. इस दौरान सड़कों पर बहुत कम बसें दिखाई दीं.

6. दिल्ली के पटपड़गंज में एआईसीसीटीयू ने सड़क पर उतर प्रदर्शन किया. उन्होंने सरकारी संस्थानों के प्राइवेटाइजेशन के खिलाफ प्रदर्शन किया.

7. टेलीकॉम, हेल्थ, एजुकेशन, कोल, स्टील, इलेक्ट्रिसिटी, बैंकिंग, एंश्योरेंस, और ट्रांसपोर्ट सेक्टर हड़ताल के समर्थन में हैं. वहीं, किसान और छात्र भी इसमें समर्थन कर रहे हैं.