कोलकाता: देश में बढ़ती तेल की कीमतों और रुपए की कमजोर होती हालत को लेकर देश में कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्षी पार्टियों ने सोमवार को बंद बुलाया है. पेट्रोलियम पदार्थ की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस और विभिन्न विपक्षी पार्टियों की ओर से बुलाया गया भारत बंद पश्चिम बंगाल सरकार के तमाम उपायों के बीच कोलकाता और उपनगरों में जारी है.

राहुल गांधी ने पूछा- 2014 से पहले महंगाई का रोना रोने वाले पीएम मोदी अब महंगे पेट्रोल-डीजल पर चुप क्यों हैं?

तृणमूल कांग्रेस ने रुपए के मूल्य में गिरावट समेत मुद्दे को तो समर्थन दिया है, लेकिन वह बंद के खिलाफ है. बंद के समर्थकों ने जादवपुर स्टेशन पर रेल की पटरियों पर प्रदर्शन किया, लेकिन यात्रियों के विरोध के बाद वह वहां से हट गए. वाम दलों ने देश में पेट्रोलियम उत्पादों की तेजी से बढ़ती कीमतों और अभूतपूर्व आर्थिक बोझ बढ़ने के खिलाफ के विरोध पश्चिम बंगाल में कई जगह विरोध प्रदर्शन किया और कई जगह ट्रेने रोकी.

Bharat Bandh Live: रामलीला मैदान में राहुल गांधी की हुंकार- मोदी जी ने 4 साल में देश को ऐसा किया बदहाल जो 70 सालों में नहीं हुआ

कांग्रेस ने सुबह नौ बजे से छह घंटे का बंद बुलाया है, जबकि माकपा नीत वाम मोर्चे ने 12 घंटे का बंद बुलाया है जो सुबह 6 बजे से शुरू हुआ है. तकरीबन सभी स्कूल और कॉलेज खुले हुए हैं और परीक्षाएं भी चल रही हैं, जबकि सुबह में दफ्तर जाने वाले लोग भी कार्यालय जाते दिखे. कोलकाता यातायात पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बंद का असर जन जीवन पर नहीं पड़े, इसके लिए सभी उपाय किए गए हैं.

Bharat Bandh: बिहार में व्यापक असर, कई जगह पर ट्रेनें रोकीं, सड़कों पर लगाया जाम

बता दें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में एकजुट विपक्ष ने पेट्रोल, डीजल की बढ़ी कीमतों के विरोध में आहूत ‘भारत बंद’ आयोजन सोमवार को किया है. कांग्रेस के नेतृत्व में इस बंद में जेडी-एस, तृणमूल कांग्रेस, आरजेडी, एनसीपी, एलजेडी, राष्ट्रीय लोक दल, ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी और आम आदमी पार्टी शामिल हैं, जिन दलों ने विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया.