नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की कथित जन विरोधी नीतियों के खिलाफ देश में दो दिनों से जारी श्रमिक संगठनों की हड़ताल का मिलाजुला असर पड़ा है. हड़ताल के दूसरे दिन बुधवार को जहां बैंकिंग सेवाएं आंशिक रूप से प्रभावित हुईं वहीं पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में हिंसा की छिटपुट घटनाएं हुईं. हड़ताल में शामिल श्रमिकों में हावड़ा जिले में स्कूली बसों पर पथराव किया. हड़ताल के पहले दिन मंगलवार को औद्योगिक इकाई वाले इलाकों में इस आंशिक असर देखा गया था. बुधवार को गोवा में हड़ताल का आंशिक असर पड़ने की रिपोर्ट आई है. वहां पर निजी बसें और टैक्सियों सड़कों से नदारद थीं, जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ. देश के बाकी हिस्सों से हड़ताल के असर को लेकर अभी तक कोई रिपोर्ट नहीं है.

केंद्र सरकार की कथित श्रमिक विरोधी नीतियों के विरोध में 10 केंद्रीय श्रमिक संगठनों ने 8 और 9 जनवरी को दो दिन की हड़ताल का आह्वान किया है. कुछ बैंक कर्मचारी संगठनों ने भी इस हड़ताल का समर्थन किया है. आल इंडिया बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन (एआईबीईए) तथा बैंक एम्पलाइज फेडरेशन आफ इंडिया (बीईएफआई) ने हड़ताल का समर्थन किया है. इस वजह से उन बैंकों का परिचालन प्रभावित हुआ है जहां इन दो संगठनों का ज्यादा प्रभाव है.

हालांकि, भारतीय स्टेट बैंक और निजी क्षेत्र के बैंकों में कामकाज पर असर नहीं पड़ा है, क्योंकि बैंक कर्मचारियों के सात अन्य संगठन हड़ताल में भाग नहीं ले रहे हैं. एआईबीईए के महासचिव सी.एच.वेंकटचलम के अनुसार, नकद लेन-देन, चेक निस्तारण, निकासियों, विदेशी मुद्रा विनिमय आदि पर असर पड़ा है. उन्होंने दावा किया कि हड़ताल के कारण मंगलवार को 20 हजार करोड़ रुपये के चेक का निस्तारण नहीं हो सका. सार्वजनिक क्षेत्र के कई बैंक पहले ही अपने ग्राहकों को सूचित कर चुके हैं कि हड़ताल की स्थिति में सेवाएं प्रभावित हो सकती हैं.

पश्चिम बंगाल में हिंसा की छिटपुट घटनाएं
दो दिवसीय देशव्यापी हड़ताल के दूसरे दिन बुधवार को पश्चिम बंगाल के कई हिस्सों में हिंसा की छिटपुट घटनाएं हुईं. पुलिस ने बताया कि हावड़ा जिले में स्कूल बसों पर पथराव किया गया. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाद में पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और प्रदर्शनकारियों को वहां से खदेड़ दिया. अधिकारियों ने बताया कि दक्षिणी कोलकाता के जादवपुर में एक बस स्टैंड पर रैली निकालने के लिए बुधवार को एक बार फिर वरिष्ठ माकपा नेता सुजान चक्रवर्ती को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. कूचबिहार जिले में हड़ताल समर्थकों ने ऑटो पर पथराव किया, जिसके परिणामस्वरूप चालकों ने अपनी सेवाएं बंद कर दी.

गोवा में बस, पर्यटक टैक्सी सड़कों से नदारद
हड़ताल की वजह से गोवा में बुधवार को निजी बसें और पर्यटक टैक्सियां नहीं चलीं जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ. राज्य में निजी बस संगठन ने अपनी सेवाएं बंद रखीं जिससे विभिन्न बस स्टैंड पर यात्रियों की लंबी कतारें देखने को मिलीं. परिवहन निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए राज्य सरकार द्वारा संचालित कदंब परिवहन निगम ने 800 अतिरिक्त बसों का परिचालन शुरू किया है. सरकार के नदी नौवहन विभाग द्वारा संचालित की जाने वाली नौका सेवा के बंद रहने के कारण तटीय राज्य में द्वीपों पर रहने वाले लोगों को भी समस्याओं का सामना करना पड़ा.