स्वतंत्रता दिवस से दो दिन पहले दिल्ली के राजपथ पर भारत पर्व का आगाज़ हुआ। रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने गुब्बारे छोड़कर समारोह की शुरुआत की। स्वतंत्रता दिवस के प्रतीक के रूप में केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय अन्य मंत्रालयों और विभागों के साथ मिलकर इस ख़ास पर्व का आयोजन किया है। ‘भारत पर्व 6 दिनों तक चलेगा और 18 अगस्त को ख़त्म होगा। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश स्वतंत्रता दिवस मनाने, नागरिकों के बीच देशभक्ति की भावना को बढ़ावा देने और पर्यटन को प्रोत्साहित करना है।

बता दें की इस पर्व में विभिन्न राज्य के हस्तशिल्पों को प्रदर्शित करने के लिए करीब 100 स्टाल बनाए गए है। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार देश के विविध रंगों को प्रदर्शित करने के लिए राज्यों में असम, पंजाब, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, नगालैंड, उत्तर प्रदेश और ओडिशा स्थानीय संघों और सांस्कृतिक संगठनों को लाया गया है। इनमें तमाम तरह के हैंडीक्राफ्ट और कपड़े बेचे जा रहे हैं। अलग-अलग राज्यों के खानपान के स्टॉल भी लगाए गए हैं।

सूत्रों के अनुसार, कार्यक्रम को सफल बनाने में केंद्रीय रक्षा और संस्कृति मंत्रालय काफी परिश्रम कर रहे है। आज इस कार्यक्रम की शुरुवात स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने वाले लोगों को याद करने के इरादे से की गई। इस मौके पर शहरी विकास और सूचना प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू, पर्यटन मंत्री महेश शर्मा और सूचना और प्रसारण राज्य मंत्री राज्यवर्धन राठौर ने भी हिस्सा लिया।