नई दिल्ली. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, प्रसिद्ध संगीतकार भूपेन हजारिका, एवं आरएसएस से जुड़े नेता एवं समाजसेवी नानाजी देशमुख को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया जाएगा. गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति भवन से जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि नानाजी देशमुख एवं भूपेन हजारिका को यह सम्मान मरणोपरांत प्रदान किया जाएगा. पीएम नरेंद्र मोदी ने देश की इन तीनों विभूतियों को सर्वोच्च नागरिक सम्मान देने की वजहें भी बताईं. राष्ट्रपति भवन द्वारा सम्मान की घोषणा किए जाने के कुछ ही देर बाद एक के बाद एक किए गए अपने ट्वीट के जरिए पीएम मोदी ने इन तीनों शख्सियतों की विशेषताओं के बारे में बताया.

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न सम्मान दिए जाने के बारे में पीएम मोदी ने कहा कि वह वर्तमान राजनीति के स्तंभ हैं. उन्होंने दशकों तक निस्वार्थ भाव से देश की सेवा की है और भारत के विकास के लिए कई महत्वपूर्ण काम किए हैं. उनकी सोच और बुद्धिमत्ता अद्भुत है. यही वजह है कि प्रणब मुखर्जी को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से नवाजा गया है. पीएम मोदी ने असम के मूर्धन्य कलाकार भूपेन हजारिका को इस सम्मान के लिए चुने जाने का कारण भी बताया. उन्होंने कहा कि भूपेन हजारिका का गीत और संगीत हमारी कई पीढ़ियों द्वारा सराहा गया है. हजारिका ने भारत की संगीत परंपरा को विश्व स्तर तक पहुंचाया. उनका संगीत शांति और सौहार्द के साथ-साथ समाज में भाईचारे का संदेश देता है. आरएसएस के दिग्गज दिवंगत नानाजी देशमुख को यह सम्मान दिए जाने के बारे में पीएम मोदी ने कहा कि ग्रामीण विकास के क्षेत्र में नया प्रतिमान स्थापित करने और गांवों में रहने वालों के जीवनस्तर को ऊंचा उठाने में नानाजी देशमुख का योगदान महत्वपूर्ण रहा है. मानवता की सेवा से जुड़े देशमुख ने देश के वंचित वर्ग के उत्थान में अहम भूमिका निभाई.

इन तीन शख्सियतों को मिला भारत रत्न सम्मान

नानाजी देशमुख


संघ से जुड़े नानाजी देशमुख पूर्व में भारतीय जनसंघ से जुड़े थे. 1977 में जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद उन्होंने मन्त्री पद स्वीकार नहीं किया और जीवन पर्यन्त दीनदयाल शोध संस्थान के अन्तर्गत चलने वाले विविध प्रकल्पों के विस्तार हेतु कार्य करते रहे. अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने उन्हें राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया था. वाजपेयी के कार्यकाल में ही भारत सरकार ने उन्हें शिक्षा, स्वास्थ्य व ग्रामीण स्वालम्बन के क्षेत्र में अनुकरणीय योगदान के लिए पद्म विभूषण भी प्रदान किया.

भूपेन हजारिका


भूपेन हजारिका पूर्वोत्तर राज्य असम से ताल्लुक रखते थे. अपनी मूल भाषा असमिया के अलावा भूपेन हजारिका हिंदी, बंगला समेत कई अन्य भारतीय भाषाओं में गाना गाते रहे थे. उनहोने फिल्म “गांधी टू हिटलर” में महात्मा गांधी का पसंदीदा भजन “वैष्णव जन” गाया था. उन्हें पद्मभूषण सम्मान से भी सम्मानित किया गया था.

प्रणब मुखर्जी


पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रहे हैं. वह संप्रग प्रथम और द्वितीय सरकारों में महत्वपूर्ण पदों पर रहे. कांग्रेस शासनकाल में वे पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और नरसिम्हा राव की सरकार में मंत्रिमंडल के वरिष्ठ सदस्यों में से एक रहे हैं.

(इनपुट – एजेंसी)