डलहौजी. सहारनपुर में जातीय हिंसा से सुर्खियों में आया भीम सेना का मुखिया चंद्रशेखर आजाद गिरफ्तार कर लिया गया है. चंद्रशेखर की गिरफ्तारी हिमाचल के डलहौजी से हुई है. वह सहारनपुर हिंसा में मुख्य आरोपी है. सहारनपुर जातीय हिंसा के बाद लगातार सोशल मीडिया पर अपने वीडियो संदेश के जरिए भड़काऊ बयान देने वाले भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ऊर्फ रावण के सिर पुलिस ने 12 हजार का इनाम घोषित किया था.Also Read - भीम आर्मी प्रमुख की पार्टी को मिल सकता है 'समान चुनाव चिन्ह', याचिका पर विचार करेंगा निर्वाचन आयोग

इसके साथ ही कोर्ट ने चंद्रशेखर के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किया था. सहारनपुर में हुई हिंसा में भीमा आर्मी का हाथ माना जा रहा थी. पुलिस आजाद को डलहौजी से सहारनपुर लेकर आएगी. चंद्रशेखर आजाद उर्फ रावण के कई साथी पिछले 4-5 दिनों में गिरफ्तार किए गए थे. भीम आर्मी का पूरा नाम ‘भीम आर्मी भारत एकता मिशन’ है. Also Read - UP: भीम आर्मी चीफ को जान से मारने की धमकी के मामले में राष्ट्रीय स्वर्ण परिषद अध्‍यक्ष के खिलाफ FIR दर्ज

पहली बार अप्रैल 2016 में हुई जातीय हिंसा के बाद भीम आर्मी सुर्खियों में आई थी. दलितों के लिए लड़ाई लड़ने का दावा करने वाले चंद्रशेखर की भीम आर्मी से आसपास के कई दलित युवा जुड़ गए हैं. यूपी सहित देश के सात राज्यों में फैली इस संस्था में करीब 40 हजार सदस्य जुड़े हुए हैं. Also Read - अयोध्या से यूपी चुनाव अभियान की शुरूआत करेंगे ओवैसी, मोर्चा में शामिल हो सकती है भीम आर्मी