मेरठ: त्रिपुरा में कम्यूनिस्ट नेता लेनिन की मूर्ति तोड़े जाने के बाद से देशभर में मूर्तियां तोड़ने का सिलसिला शुरू हो चुका है. ताजा मामला मेरठ के मवाना क्षेत्र से सामने आया है जहां मंगलवार रात को अज्ञात लोगों द्वारा संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा को तोड़ा गया है. बाबा साहेब की मूर्ति तोड़े जाने के विरोध में दलित समाज के लोगों ने बुधवार सुबह विरोध प्रदर्शन किया और आसपास के इलाके में ट्रैफिक को जाम कर दिया. विरोध कर रहे लोगों ने डॉक्टर अंबेडकर की नई प्रतिमा लगाने की मांग की जिसे प्रशासन ने मान लिया. स्थानीय प्रशासन से नई प्रतिमा लगाए जाने का आश्वासन मिलने के बाद प्रदर्शनकारी शांत हुए और विरोध प्रदर्शन को बंद कर दिया.

those who break statue lost their mind said vice president venkaiah naidu । मूर्ति तोड़े जाने पर बोले नायडू- ‘ऐसे लोगों का दिमाग खराब’, येचुरी का वार- ‘संघ का यही इतिहास’

those who break statue lost their mind said vice president venkaiah naidu । मूर्ति तोड़े जाने पर बोले नायडू- ‘ऐसे लोगों का दिमाग खराब’, येचुरी का वार- ‘संघ का यही इतिहास’

देशभर में तोड़ी गई मूर्तियां

देशभर में मूर्ति तोड़ने का ये सिलसिला त्रिपुरा से शुरू हुआ था जब कथित रूप से बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने कम्यूनिस्ट नेता लेनिन की मूर्ति पर बुलडोजर चलवा दिया था. इसके बाद तमिलनाडु में बीजेपी नेता की एक विवादित फेसबुक पोस्ट के बाद द्रविड़ राजनीति के पुरोधा पेरियार की मूर्ति को भी नुकसान पहुंचाया गया. कोलकाता में भारतीय जनसंघ के संस्थापक और बीजेपी के वैचारिक प्रमुख डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को भी कुछ छात्रों ने क्षतिग्रस्त किया और एक पर्चा भी फेंका जिसपर लिखा था कि पेरियार की मूर्ति तोड़ने का बदला लिया गया है.

पीएम मोदी, अमित शाह ने की निंदा

पीएम मोदी ने इस संबंध में गृह मंत्री राजनाथ सिंह से भी बात कर ताजा हालात की जानकारी ली है और ऐसी घटनाओं के खिलाफ सख्त एक्शन लेने के लिए कहा है. गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को कहा है कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सभी जरूरी कदम जल्द से जल्द उठाए जाएं. राज्यों के लिए गृह मंत्रालय द्वारा जारी संदेश में कहा गया है कि, ”मूर्ति तोड़ने जैसी घटनाओं में शामिल लोगों के खिलाफ कड़े कानून लगाकर सख्ती से पेश आया जाए”. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी मूर्ति तोड़ने को गलत बताया है और कहा है कि, ”हम किसी की भी मूर्ति तोड़ने का समर्थन नहीं करते और अगर मूर्ति तोड़ने में बीजेपी का कोई कार्यकर्ता शामिल होगा तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाई की जाएगी” शाह ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए और लिखा, ”बीजेपी ये मानती है कि भारत में विपरीत विचारधारा होनी चाहिए, हमारे संविधान निर्माताओं ने भी यही सपना देखा था और भारत की मजबूती इसी में है कि भारत की विविधता और वाद विवाद की गुंजाइश बची रहे.

उपराष्ट्रपति ने भी निंदा

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी देशभर में अलग अलग जगह पर मूर्ति तोड़े जाने की घटनाओं की कड़ी निंदा की है. उपराष्ट्रपति ने राज्यसभा में कहा कि, ”कहीं भी मूर्ति तोड़ा जाना गलत है, जिन लोगों ने ऐसा काम किया है उनका दिमाग खराब है और जहां जहां भी ऐसी घटनाएं हुई हैं वहां की सरकारें कार्रवाई कर रही हैं”