लखनऊ: काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) की 27 वर्षीय एक शोधार्थी ने अपने किराये के कमरे में छत के पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. बताया गया है कि छात्रा ने मंगेतर से वीडियो चैटिंग करते वक्‍त किसी बात से नाराज होकर ऐसा कदम उठाया. छात्रा के मंगेतर ने मकानमालिक की सहायता से कमरे का दरवाजा खोलकर उसे अस्‍पताल पहुंचाया, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी. पुलिस ने इस घटना की जानकारी दी है.

यूपी: महिला का आरोप- शादी का झांसा देकर BJP विधायक ने कई बार किया रेप

जानकारी के मुताबिक, मध्य प्रदेश के बेतूल की रहने वाली ख्याति सिंह बीएचयू में पर्यावरण एवं धारणीय विकास संस्थान की शोध छात्रा थी. वह वाराणसी में लंका थाना क्षेत्र के नगवा में पिछले एक माह से किराए के मकान में रह रही थी. मंगलवार की भोर तक छात्रा मंगेतर से वीडियो चैटिंग करती रही. इसी बीच दोनों के बीच किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया. इससे नाराज छात्रा ने फांसी लगा लिया. इस कदम को लाइव वीडियो चैट पर देखकर छात्रा का मंगेतर रामनगर से मकान पर पहुंचा था. छात्रा के माता-पिता मध्य प्रदेश में शिक्षा विभाग में तैनात हैं. दो बेटी एक बेटे में सबसे बड़ी बेटी ख्याति सिंह भोपाल से एमए करने के बाद दो साल तक नेट की तैयारी की थी. बीते 20 अप्रैल को उसने बीएचयू में प्रवेश लिया था. इस बीच परिवार वालों ने नेवी के एक चीफ इंजीनियर श्वेतांक के साथ 30 अप्रैल को बनारस में उसकी सगाई भी कर दी थी. सूचना मिलने पर परिजन घर से बनारस के लिए रवाना हो गए.

घटना पर बीएचयू के कुलपति ने जताया दुख
बीएचयू पर्यावरण एवं धारणीय विकास संस्थान की शोध छात्रा के निधन पर कुलपति ने दु:ख जताया. कुलपति प्रो. राकेश भटनागर ट्रामा सेंटर पहुंचे और डाक्‍टरों को बेहतर इलाज संबंधी निर्देश दिया था. लेकिन डाक्‍टरों के भरसक प्रयास के बाद भी छात्रा को बचाया नहीं जा सका.