Covid-19 Treatment Big News: कोरोना महामरी को रोकने के लिए दुनियाभर में जहां कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine) बनाने को लेकर कवायद तेज है, वहीं वैज्ञानिकों ने ऐसी दवा खोज निकाली है जो सिर्फ 24 घंटों में कोरोना (Corona Virus) का इलाज कर सकती है. इस बीच वैज्ञानिकों का दावा है कि ये एंटी वायरल ड्रग कोरोना  को पूरी तरह से खत्म कर सकती है. इस ड्रग का नाम है. MK-4482/EIDD-2801 इसको आसान भाषा में मोल्नूपीराविर (Molnupiravir) भी कहा जाता है.Also Read - Covid 19 in Festival Season: अगले कुछ महीने में कोरोना संक्रमण के बढ़ने की है संभावना, फेस्टिवल सीजन के लिए सरकार ने जारी किया बयान

गेम चेंजर होगी मोल्नूपीराविर (Molnupiravir)
जर्नल ऑफ नेचर माइक्रोबायलॉजी में छपी एक स्टडी के मुताबिक, मोल्नूपीराविर (Molnupiravir) से कोरोना के मरीजों को न संक्रमण फैलने से रोका जा सकता है बल्कि आगे होने वाली गंभीर बीमारियों से भी बचाया जा सकता है. इस स्टडी के लेखक रिचर्ड प्लेंपर का कहना है कि ‘ये पहली बार है जब कोरोना के इलाज (Corona Treatment)के लिए मुंह से खाने वाली दवाई का प्रदर्शन किया जा रहा है. MK-4482/EIDD-2801 कोरोना के इलाज में गेम चेंजर साबित हो सकती है’. Also Read - Coronavirus cases In India: फिर 30 हजार के पार पहुंचा कोरोना केस, एक दिन में इतने लोगों की मौत

Molnupiravir की खोज जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी की रिसर्च टीम ने की Also Read - Indian Premier League 2021: फैंस को मिली बड़ी सौगात, अब स्टेडियम जाकर देख सकेंगे मैच

इस Molnupiravir दवा की खोज जॉर्जिया स्टेट यूनिवर्सिटी की एक रिसर्च टीम ने की है. शुरुआती शोध में ये ड्रग इन्फ्लुएंजा जैसे जानलेवा फ्लू को खत्म करने में असरदार पाई गई, जिसके बाद फेरेट मॉडल के जरिए इस पर SARS-CoV-2 के संक्रमण को रोकने के लिए रिसर्च की गई. इस शोध को करने के लिए वैज्ञानिकों ने पहले कुछ जानवरों को कोरोना वायरस(Corona Virus) से संक्रमित किया. जैसे ही इन जानवरों ने नाक से वायरस छोड़ने शुरू किए, उनको MK-4482/EIDD-2801 या मोल्नूपीराविर (Molnupiravir) दी गई. इसके बाद इन संक्रमित जानवरों को स्वस्थ जानवरों के साथ एक ही पिंजरे में रखा गया.

रिसर्च के सह लेखक जोसफ वॉल्फ के मुताबिक संक्रमित जानवरों के साथ रखे गए स्वस्थय जानवरों में से किसी में भी संक्रमण नही फैला. अगर इसी तरह से कोरोना संक्रमित मरीजों पर मोल्नूपीराविर (Molnupiravir) ड्रग का इस्तेमाल किया जाता है, तो 24 घंटों के अंदर मरीज  में संक्रमण खत्म हो जाएगा.