CDS Gen Bipin Rawat ही नहीं, हवाई हादसों में देश की इन बड़ी हस्तियों की भी गई है जान, ये हैं 7 बड़े नाम

देश पहले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत समेत भारत की बड़ी हस्तियां हवाई हादसे में जानें गंवा चुकी हैं

Advertisement

INDIA, Air Accidents, Air Crashes:  देश पहले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत समेत 13 लोगों की आज तमिलनाडु में कुन्नूर के समीप बुधवार को हुई हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मृत्यु हो गई. दुर्घटना में एकमात्र बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का फिलहाल वेलिंगटन में सेना के अस्पताल में इलाज चल रहा है. एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर में सीडीएस और नौ अन्य यात्री तथा चालक दल के चार सदस्य सवार थे। यह हेलीकॉप्टर दोपहर दो बजे के करीब कुन्नूर के निकट दुर्घटनाग्रस्त हो गया. भारत में कई हवाई हादसों में देश की अहम हस्तियों को खोया है. अतीत में हुए ऐसे हादसों ने देश को बड़े जख्‍म दिए हैं. आइए ऐसे हादसों पर एक नजर डालते हैं.

Advertising
Advertising

18 अगस्त 1945: सुभाष चंद्र बोस

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

- हवाई हादसों जान गंवाने वाली की सबसे पहली बड़ी हस्तियों में सुभाष चंद्र बोस थे. उनका विमान 18 अगस्त 1945 को क्रैश हुआ था. हालांकि विमान हादसे में उनकी मौत

Advertisement

लेकर हमेशा सवाल उठते रहें.

24 जनवरी 1966: होमी जहांगीर भाभा

- 24 जनवरी 1966 को देश के शीर्ष वैज्ञानिक और भारत के परमाणु कार्यक्रम के जनक माने जाने वाले डॉक्‍टर होमी जहांगीर भाभा की मौत विमान हादसे में हुई थी. मुंबई

से न्‍यूयॉर्क जा रहा एयर इंडिया का बोइंग 707 विमान माउंट ब्‍लैंक पहाड़ियों के पास हादसे का शिकार हो गया. इस हादसे में होमी जहांगीर भाभा समेत प्‍लेन में सवार सभी

117 यात्रियों की मौत हो गई थी.

- 23 जून, 1980: संजय गांधी की मौत

देश की तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के छोटे बेटे संजय गांधी की 23 जून, 1980 दिल्‍ली में एक विमान हादसे में मौत हो गई थी. वह स्‍वयं ही विमान उड़ा रहे थे.

30 सितंबर, 2001: माधवराव सिंधिया

कांग्रेस नेता माधवराव सिंधिया की मौत भी हवाई हादसे में हुई थी. 30 सितंबर, 2001 को अपने 10 सीटर निजी प्लेन में सवार थे, जिसमें 4 अन्‍य लोग भी शामिल थे. यह

हादसा यूपी के आगरा से 85 किलोमीटर दूर मैनपुरी जिले में हुई थी. हादसे की वजह भी खराब विजिबिलिटी बताई गई थी. बारिश के वजह से प्‍लेन क्रैश होकर मोटा गांव में एक खेत में गिर गया था.

3 मार्च 2002: जीएमसी बालयोगी

3 मार्च 2002 को लोकसभा अध्‍यक्ष टीडीपी ने जीएमसी बालयोगी भी आंध्र प्रदेश में हेलीकॉप्टर क्रैश में मारे गए थे. बालयोगी बेल 206 नाम के हेलिकॉप्टर में सवार थे. यह

हादसा भी वजह खराब द्रश्‍यता के चलते हुआ था. हेलीकॉप्टर के पायलट ने गलती से एक तालाब के ऊपर लैंडिंग दिया था.

3 सितंबर 2009: वाईएस राजशेखर रेड्डी

3 सितंबर 2009 को आंध्र प्रदेश के तत्‍कालीन मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी की मौत भी एक हेलीकाप्‍टर क्रैश में हुई थी. वह जिस हेलिकॉप्टर में यात्रा कर रहे थे, वह

चित्तूर जिले के जंगल में क्रैश हो गया था. यह डबल इंजन वाला बेल 430 चॉपर था. वाईएसआर का शव 27 घंटे एक बड़े तलाशी अभियान के बाद मिला था.

31 मार्च 2005: ओ पी जिंदल

31 मार्च 2005 को हरियाणा के ऊर्जा मंत्री ओ पी जिंदल की मौत भी प्लेन क्रैश में हुई थी. तकनीकी खराबी की वजह से प्लेन उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में क्रैश हुआ था.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:December 8, 2021 9:14 PM IST

Updated Date:December 8, 2021 9:14 PM IST

Topics