नई दिल्ली: बिहार में भारी बारिश के चलते जन जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. राजधानी पटना के लगभग सभी क्षेत्रों में पानी भर गया है और दैनिक जरूरतों को पूरा करने के लिए लोग संघर्ष कर रहे हैं. मौसम विभाग ने कहा है कि मानसून की वापसी में और अधिक देरी हो सकती है. बिहार के भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में एनडीआरएफ 19 टीमों को तैनात किया गया है. टीमें बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में अन्य एजेंसियों के साथ बचाव और निकासी अभियान चला रही हैं. एनडीआरएफ ने रविवार को पटना के निचले इलाकों से 235 लोगों को बाहर निकाला गया.

अब तक NDRF ने 4945 लोगों और 45 पशुओं को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने कहा कि केंद्र सरकार बिहार, उत्तप्रदेश, झारखंड जैसे राज्यों की स्थिति पर नजर बनाए हुई है.

देश भर में बारिश से मचा हाहाकार, चार दिन में 120 से ज्यादा लोगों की मौत

बिहार बारिश

बता दें कि बारिश और बाढ़ से राज्य में अब तक 24 लोगों की मौत हो चुकी है. सिर्फ पटना में ही 19 लोगों की जान चली गई है. आपदा प्रबंधन विभाग ने इसकी पुष्टि की है. लगातार हो रही बारिश की वजह से हवाई उड़ानें भी प्रभावित हो रही हैं.

लगातार खराब होती स्थिति पर काबू पाने के लिए बिहार सरकार ने केंद्र सरकार से मदद मांगी है. नीतीश कुमार ने केंद्र से भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टरों की मांग की है. साथ ही कोयला मंत्रालय को पत्र लिखकर पानी निकालने के लिए बड़े पंपों को भेजने का अनुरोध किया है ताकि निचले इलाकों के पानी को निकाला जा सके.