पटना: बिहार की राजधानी पटना में एक केंद्रीय मंत्री के वाहन को रोकने के बाद भी जांच नहीं किए जाने के मामले में तीन पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की गाज गिरी है. एक अवर निरीक्षक समेत तीन पुलिसकर्मी निलंबित कर दिया गया है. केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे के वाहन को बिना जांच जाने देने पर पटना के आयुक्त आनंद किशोर के आदेश पर एक अवर निरीक्षक सहित तीन पुलिसकर्मियों को रविवार को निलंबित कर दिया गया.

किशोर ने एएसआई देवपाल पासवान और कांस्टेबल दिलीप चंद्र के निलंबन का आदेश दिया. किशोर खुद वाहन जांच मुहिम की निगरानी कर रहे हैं. यातायात पुलिस अधीक्षक डी अमरकेश के साथ किशोर रविवार को बेली रोड स्थित बिहार म्यूजियम के समीप नए मोटर वाहन संशोधन अधिनियम 2019 के तहत सघन जांच कर रहे थे. इसी दौरान केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की काले शीशे लगी कार चला रहे, उनके बेटे अर्जित चौबे वहां पहुंचे. गाड़ी में परिवार के अन्य सदस्य भी सवार थे. पुलिसकर्मियों ने गाड़ी को जांच के लिए रोका, लेकिन कुछ समय तक कोई भी पुलिसकर्मी वहां जांच के लिए नहीं पहुंचा. इसके बाद अर्जित बिना जांच कराए ही गाड़ी को लेकर रवाना हो गया.

आयुक्त ने जुर्माने की राशि वसूलने में लापरवाही बरतने पर अवर निरीक्षक देवपाल पासवान और आरक्षी दिलीप चंद्र सिंह एवं पप्पू कुमार को निलंबित किए जाने का निर्देश यातायात पुलिस अधीक्षक को दिया.