Bihar Assembly Election 2020: बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख की घोषणा कब की जाएगी, सभी राजनीतिक दलों के साथ बिहार की जनता भी इसका बेसब्री से इंतजार कर रही है.  जैसे-जैसे चुनाव का समय नजदीक आ रहा है,लोगों के जेहन में बस एक ही सवाल है कि चुनाव आयोग चुनाव की तारीखों की घोषणा कब करेगा? क्या अगले 2 से 3 दिनों में बिहार चुनाव की घोषणा हो जाएगी? Also Read - Bihar Polls 2020: Voter List में कैसे चेक होगा नाम और कैसे डाउनलोड करेंगे Voter Slip? यह है पूरी प्रक्रिया...

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा-अभी चुनाव कराना है बड़ी चुनौती Also Read - Bihar Assembly Election 2020: बीच चुनाव नीतीश से 'दूरी' बनाने लगी भाजपा, 10 नवंबर को राज्य में बदलेगा नेतृत्व!

लोगों के मन में उठ रहे ऐसे तमाम सवालों और मीडिया में चल रही ऐसी तमाम खबरों पर चुनाव आयोग ने अभी बहुत कुछ स्पष्ट नहीं किया है लेकिन मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा है कि चुनाव आयोग अगले कुछ दिनों में बिहार का दौरा करने का निर्णय करेगा, जहां कोविड-19 महामारी के बीच इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने की संभावना है. Also Read - Bihar Polls 2020: बिहार में पहले चरण के चुनाव प्रचार का आज आखिरी दिन, कई दिग्गजों की रैलियां- मतदान 28 को...

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा कि भारत जैसे विशाल, बहुभाषी एवं विभिन्नता लिए हुए लोकतांत्रिक देश में चुनाव कराना एक चुनौती है. बता दें कि अभी बिहार में करीब सात करोड़ 29 लाख मतदाता हैं और इस तरह चुनाव आयोग के समक्ष बिहार में चुनाव कराना किसी चुनौती से कम नहीं है.

चुनाव आयोग ने स्पष्ट किया-अभी तारीख घोषित नहीं होगी

कोविड-19 के दौरान चुनाव कराने के मुद्दे, चुनौतियां और प्रोटोकॉल : देश का अनुभव साझा करना’ इस विषय पर आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार को संबोधित करते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा था कि बिहार का दौरा करने को लेकर चुनाव आयोग अगले दो-तीन दिन में निर्णय करेगा’. इस खबर को मीडिया में इस तरह से चलाया गया कि अगले दो दिन दिनों में चुनाव की घोषणा हो जाएगी. इसी पर उन्होंने ये स्पष्टीकरण जारी किया था.

चुनाव की तारीख घोषित करने से पहले चुनाव आयोग को करना होता है ये काम

चुनाव आयोग आमतौर पर चुनाव वाले राज्य के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा करने से पहले वहां की पुलिस, नागरिक प्रशासन के अधिकारियों एवं राजनीतिक दलों के साथ चर्चा करने के लिए प्रदेश का दौरा करता है. आयोग में एक मुख्य चुनाव आयुक्त और दो चुनाव आयुक्त होते हैं. ऐसे में चुनाव आयोग के दौरे के बाद ये तय होगा कि बिहार में चुनाव की तिथि क्या होगी.