पटना: अपराध की दुनिया से राजनीति में आए निर्दलीय विधायक अनंत सिंह पटना में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की फरवरी में होने वाली रैली के समर्थन में रविवार को आयोजित पार्टी के एक रोड शो में शामिल हुए. उन्हें बाहुबली के नाम जाना जाता है. अनंत सिंह के खिलाफ कई आपराधिक मामले हैं और उन्हें राज्यसभा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश सिंह और सैकड़ों अन्य पार्टी सदस्यों के साथ रोड शो में देखा गया, जो तीन फरवरी को यहां होने वाली राहुल की रैली के लिए लोगों को जुटाने के लिए आयोजित किया गया था. Also Read - 12 राज्यों में 1 लाख से भी ज्यादा एक्टिव केस, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- 9 राज्यों में तेजी से बढ़ रहा कोरोना

कांग्रेस यहां गांधी मैदान में भाजपा विरोधी एक ‘जन आकांक्षा’ रैली आयोजित करने में व्यस्त है. पिछले 28 सालों में यह पहला मौका है, जब कांग्रेस राज्य में अपने बलबूते एक विशाल रैली आयोजित कर रही है. अखिलेश सिंह ने रोड शो में अनंत सिंह की उपस्थित की पुष्टि करते हुए मीडिया से कहा, “वह एक मजबूत और लोकप्रिय नेता हैं. इससे पार्टी को रैली के लिए समर्थन जुटाने में मदद मिलेगी.” Also Read - कांग्रेस ने कहा- TMC वर्कर्स ने हमारे कार्यकर्ताओं पर भी हमला किया, स्थिति संभालें ममता बनर्जी

अखिलेश सिंह और अनंत सिंह दोनों भूमिहार जाति से हैं. इस जाति को बिहार में ढाई दशक से अधिक समय से आमतौर पर भाजपा का वोटबैंक माना जाता है. Also Read - UP Gram UP Panchayat Chunav Result: नेता प्रतिपक्ष समेत कई दिग्गजों के रिश्तेदारों को मिली हार

बिहार की मोकामा विधानसभा सीट से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह अपने बाहुबल और धनबल के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस के टिकट पर मुंगेर संसदीय सीट से अगला लोकसभा चुनाव लड़ेंगे. अखिलेश ने कहा कि यह अभी तय नहीं है कि कौन कहां से लड़ेगा, क्योंकि एक महागठबंधन के संबंध में सहयोगियों से अभी बातचीत चल रही है.

अनंत ने 2015 में सत्ताधारी जनता दल (युनाइटेड) से इस्तीफा दे दिया था और जेल में रहते हुए उन्होंने विधानसभा चुनाव लड़ा था और जीत दर्ज की थी. अतीत में उन्हें अपहरण और हत्या जैसे कई संगीन अपराधों के लिए कई बार गिरफ्तार किया जा चुका है. फिलहाल वह जमानत पर बाहर हैं.