नई दिल्ली: भाजपा के चुनावी घोषणापत्र में बिहार में प्रत्येक व्यक्ति को कोरोना वायरस संक्रमण का टीका नि:शुल्क उपलब्ध कराने के वादे से उपजे विवाद के बीच सरकारी अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को कहा कि टीका आने पर उसे एक विशेष कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के तहत लोगों को मुहैया कराया जाएगा. Also Read - Interpol Covid Vaccine Global Alert: कोरोना वैक्सीन लगवाने का है प्लान तो दें ध्यान, इंटरपोल ने 194 देशों को जारी किया नोटिस

अधिकारियों ने यह भी कहा कि केन्द्र इसकी सीधी खरीद करेगा और इसे सभी प्राथमिकता समूहों को नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा. केन्द्र सरकार ने प्राथमिकता के आधार पर करीब 30 करोड़ लाभार्थियों की पहचान का काम प्रारंभ कर दिया है, जिन्हें शुरुआती चरण में टीका दिया जाएगा. Also Read - Corona Vaccine की मिली बड़ी खुशखबरी, AIIMS निदेशक ने बताया इसी महीने या अगले माह मिल सकती है वैक्‍सीन

अधिकारियों ने बताया कि केन्द्र इसकी सीधी खरीद करेगा और इसे सभी प्राथमिकता समूहों को नि:शुल्क उपलब्ध कराएगा. उन्होंने कहा कि राज्यों से खरीद के लिए अलग योजना नहीं बनाने को कहा गया है. Also Read - Gujarat के Ex-Minister की पोती के इंगेजमेंट में हुआ ऐसा डांस, Video वायरल होने पर अब मांग ली माफी

गौरतलब है कि केन्द्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बृहस्पतिवार को बिहार विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा का चुनावी घोषणापत्र जारी किया, जिसमें कोरोना वायरस का टीका आने के बाद इसे लोगों को नि:शुल्क उपलब्ध कराने का वादा किया गया है.

बिहार में कोरोना वायरस वैक्सीन के फ्री वितरण को लेकर विरोधी पार्टियों ने भाजपा पर निशाना साधा है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि
भारत सरकार ने कोविड वैक्सीन वितरण की घोषणा कर दी है. ये जानने के लिए कि वैक्सीन और झूठे वादे आपको कब मिलेंगे, कृपया अपने राज्य के चुनाव की तारीख़ देखें. राहुल गांधी के अलावा लालू प्रसाद यादव की पार्टी आरजेडी के लीडर और राज्यसभा सांसद मनोज झा ने कहा कि ये ज़िन्दगी का सौदा भी कर सकते हैं.