नयी दिल्ली: बिहार और झारखंड में बिजली गिरने से बुधवार को 23 लोगों की मौत हो गई है जबकि असम में बाढ़ की वजह से छह और लोगों की मौत हो गई है. मानसून की बारिश कई इलाकों में देखी जा रही है और मुंबई एवं उसके आसपास के जिलों में जलप्रलय जैसे हालात बन गए हैं. मौसम विभाग ने दिल्ली सहित पूर्वी और उत्तरी क्षेत्रों के कई राज्यों में अगले कुछ दिनों में बारिश होने का अनुमान जताया है.

बिहार और झारखंड में बिजली गिरने से कम से कम 23 लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए. पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को जानकारी दी कि इन लोगों की मौत मंगलवार की रात से लेकर अब तक बिजली गिरने की घटनाओं में हुई है. उन्होंने बताया कि बिहार के औरंगाबाद, पूर्वी चम्पारण और भागलपुर जिलों में 13 लोगों की तथा झारखंड के जामताड़ा, रामगढ़ और पाकुड़ जिलों में 10 लोगों की जान चली गई. इसके अलावा बिहार में तीन लोग घायल भी हुए हैं. असम में बाढ़ से अब भी विकट स्थिति बनी हुई है. छह और लोगों की मौत के बाद अब मृतकों की संख्या 74 तक पहुंच गई है. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के मुताबिक 33 जिलों में से 20 जिलों में बाढ़ से 38.82 लाख लोग प्रभावित हैं.

आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने बताया कि 20 जिलों के 2,993 गांव अब भी बाढ़ में डूबे हुए हैं और इससे 34,82,170 लोग प्रभावित हैं. प्राधिकरण ने बताया कि मौत के छह ताजा मामले सामने आए. नलबाड़ी, बारपेटा, धुबरी और गोलाघाट जिले में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई जबकि तीन लोगों की मौत मोरीगांव में हुई. करीब एक सप्ताह तक मौसम शुष्क रहने के बाद मुंबई और इसके आसपास के इलाकों में मंगलवार रात एवं बुधवार को भारी बारिश हुई जिसके कारण कुछ इलाकों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई. इसकी वजह से स्थानीय ट्रेन सेवाएं और सड़क यातायात प्रभावित हुआ.

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के एक प्रवक्ता ने बताया कि उपनगर अंधेरी में भारी बारिश के कारण दृश्यता कम होने की वजह से तीन कारों की टक्कर हो गई. इसके कारण आठ लोग घायल हो गए. उन्होंने बताया कि इनमें से दो घायलों को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. ये दोनों जुहू के एक पांचसितारा होटल के कर्मी हैं. मौसम विभाग ने अगले दो दिन में शहर तथा उसके उपनगरों में और अधिक बारिश होने का अनुमान व्यक्त किया है.

दिल्ली में दोपहर के वक्त तक उमस रही लेकिन शाम के समय कुछ इलाकों में बारिश देखी गई जिससे तापमान में गिरावट आ गई. मौसम वैज्ञानिकों ने गुरूवार और शुक्रवार को दिल्ली के कुछ इलाकों में भारी बारिश होने का अनुमान लगाया है. पश्चिम बंगाल के निचले इलाकों में भारी बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात बन रहे हैं और मौसम विभाग ने अगले दो दिनों में और बारिश होने का अनुमान लगाया है. यहां के दार्जिलिंग, कलिम्पोंग, जलपाईगुड़ी, कूचबिहार और अलीपुरद्वार इलाकों में शुक्रवार तक बहुत अधिक बारिश होने का अनुमान लगाया गया है. जबकि दक्षिण बंगाल में मानसूनी बारिश की कमी बनी हुई है.

राजस्थान में पिछले 24 घंटों के दौरान कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई. वहीं राज्य के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में मंगलवार के मुकाबले एक से दो डिग्री सेल्सियस की वृद्वि दर्ज की गई. मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार, पिछले 24 घंटों के दौरान जयपुर में 2.78 सेंटीमीटर बारिश और जैसलमेर जोधपुर में बूंदाबांदी दर्ज की गई. हिमाचल प्रदेश में 25 जुलाई को भारी बारिश को लेकर चेतावनी जारी की गई है.

जम्मू कश्मीर में बुधवार को बादल छाये रहने से लोगों को राहत मिली. यहां अगले तीन दिनों में बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने को लेकर चेतावनी जारी की गई है. पंजाब के संगरूर और पटियाला जिलों सहित कुछ इलाकों में गत सप्ताह भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात देखे गए. मौसम विभाग ने यहां के कुछ कुछ इलाकों में 24 और 26 जुलाई को भारी बारिश होने का अनुमान जताया है. मौसम विभाग ने हरियाणा में भी बारिश होने का अनुमान लगाया है.