जमुई: जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (Jawahar Lal Nehru University) छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष और भाकपा नेता कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) के काफिले पर एक बार फिर हमला हुआ है. जमुई से नवादा जाने के क्रम में उनके काफिले पर अंडा और मोबिल फेंका गया. पुलिस के मुताबिक, “कन्हैया कुमार रविवार को अपनी ‘जन गण मन यात्रा’ पर जमुई पहुंचे थे और एक सभा को भी संबोधित किया था. इसके बाद जमुई परिसदन में रात्रि विश्राम के बाद कन्हैया कुमार का काफिला सोमवार को आगे बढ़ने के क्रम में महिसौरी बस स्टैंड के पास पहुंचा, तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा. यहां लोगों ने कन्हैया के खिलाफ नारे लगाए और काफिले पर अंडा फेंके.” Also Read - CUCAT 2021-22: DU,JNU,BHU सहित सभी केंद्रीय विश्वविद्यालयों के लिए एक होगा एंट्रेंस टेस्ट! जानिए क्या है इसको लेकर सरकार की योजना

बिहार के सुपौल में कन्हैया कुमार के काफिले पर पथराव, दो वाहन क्षतिग्रस्त Also Read - EX JNU Student Leader Shehla Rashid Attacks Her Father: JNU की पूर्व छात्र नेता शहला राशिद ने कहा- एक दुष्ट व्यक्ति है मेरा बायोलॉजिकल पिता

इस दौरान कन्हैया कुमार के समर्थकों और स्थानीय लोगों में झड़प भी हुई. उनके समर्थकों और मीडियाकर्मियों के बीच भी इस दौरान बहस हुई. मौके पर मौजूद पुलिस और प्रशासन ने मामला शांत कराया और कन्हैया कुमार के काफिले को आगे बढ़ाया. इस दौरान कन्हैया को किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है. Also Read - अपनी विचारधारा को प्राथमिकता देने की बात ने देश की लोकतांत्रिक व्‍यवस्‍था को बड़ा नुकसान पहुंचाया: मोदी

कन्हैया कुमार ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- राजद्रोह के आरोप प्रसाद की तरह नि:शुल्क बांटे जा रहे हैं

उल्लेखनीय है कि एनआरसी (National Register of Citizenship) और सीएए (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ कन्हैया (Kanhaiya Kumar) अपनी ‘जन-गण-मन यात्रा’ (Jan Gan Man) पर हैं. एक महीने तक चलने वाली इस यात्रा के दौरान वह बिहार (Bihar) के लगभग सभी प्रमुख शहरों में पहुंचेंगे और करीब 50 सभाएं करेंगे. कन्हैया ने इस यात्रा की शुरुआत 30 जनवरी को बेतिया से की है. उनकी यह यात्रा 29 फरवरी को समाप्त होने वाली है. उल्लेखनीय है कि इससे पहले सात फरवरी को कटिहार में कन्हैया कुमार (Kanhaiya Kumar) के काफिले पर जूते-चप्पल फेंके गए थे और सुपौल जिले के सदर थाना क्षेत्र में कुछ असमाजिक तत्वों ने उनके काफिले पर पथराव कर दिया था.