पटना: बिहार (Bihar) में राज्य सरकार ने लोगों को बड़ी राहत देते हुए कुछ दुकानों को खोलने की इजाजत दी है. इनमें इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक, ऑटोमोबाइल, हार्डवेयर और निर्माण कार्य से जुड़ी सामाग्री वाली दुकानें शामिल हैं. गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी द्वारा बुधवार को जारी आदेश में कहा गया है कि दुकानों के खुलने की वजह से भीड़भाड़ न हो, यह सुनिश्चित करना जिलाधिकारी की जिम्मेदारी होगी. इसके लिए उन्हें अपने-अपने क्षेत्र में दुकानों को खोलने के आदेश निर्गत करने का भी अधिकार दिए गए हैं. Also Read - दिल्ली के सभी बॉर्डर सील, एंट्री के लिए आपके पास होना चाहिए यह पास

गृह विभाग द्वारा जारी आदेश में इलेक्ट्रिकल सामान जैसे पंखा, कूलर, एसी (बिक्री एवं मरम्मत), इलेक्ट्रॉनिक सामान जैसे- मोबाइल, कम्प्यूटर, लैपटॉप, यूपीएस और बैट्री (बिक्री एवं मरम्मत), ऑटोमोबाइल्स, टायर व ट्यूब, लुब्रिकेंट, निर्माण सामग्री भंडारण और बिक्री से संबंधित प्रतिष्ठान जैसे सीमेंट, स्टील, बालू, स्टोन, सीमेंट ब्लॉक, ईंट, प्लास्टिक पाइप, हार्डवेयर, सैनिटरी फिटिंग, लोहा, पेंट व शटरिंग सामग्री की दुकानें खोलने के आदेश दिए गए हैं. Also Read - मध्य प्रदेश: कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 8,283 तक पहुंचा, 385 में सबसे ज्यादा मौतें इंदौर में

इसके अलावे इस सूची में ऑटोमोबाइल, स्पेयरपार्ट्स की दुकानें, हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की दुकान तथा प्रदूषण जांच केंद्र को भी कुछ शर्तो के साथ शामिल हैं. गृह विभाग ने अपने आदेश में स्पष्ट किया है कि दुकानें खुलने से भीड़भाड़ न हो. इसका पूरा ध्यान रखा जाए. जिलाधिकारी चाहे तो अलग-अलग समय या अलग-अलग दिन दुकानों को खोलने का निर्णय ले सकते हैं. भीड़भाड़ कम करने के लिए क्या कदम उठाने हैं, उन्हीं के स्तर से तय होगा. दुकानों को कब और किस दिन खोलना है इसका आदेश अलग से जारी करेंगे. Also Read - वर्क फ्रॉम होम: 'बॉस' रात में करते हैं VIDEO CALL, कम कपड़ों में करते हैं मीटिंग, परेशान हैं महिलाएं