हाजीपुर: बिहार के वैशाली जिले के भगवानपुर थाना क्षेत्र में मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है, जहां छेड़खानी का विरोध करने पर बदमाशों ने एक मां-बेटी का सिर मुंडवाकर गांव में घुमाया. सबसे शर्मनाक बात ये हैं कि इस घटना का गांव में किसी ने विरोध नहीं किया. ये शर्मनाक वारदात करने वालों में एक गांव की पंचायत का एक वार्ड मेम्‍बर खुर्शीद भी है, जिसने नाई बुलाकर मां और बेटी के सिर मुड़ा दिए. बिहार राज्‍य महिला आयोग ने इस घटना का संज्ञान लिया है. Also Read - बिहार में एक बार फिर आकाशीय बिजली ने मचाई तबाही, 20 लोगों की मौत, सरकार देगी मुआवजा

पुलिस ने मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरतार कर लिया है. बिहार राज्‍य महिला आयोग ने इस घटना का संज्ञान लिया है. आयोग की अध्‍यक्ष दिलमनी मिश्रा आगे की जांच के लिए गांव का दौरा करेंगी. Also Read - Coronavirus in Bihar: 24 घंटे में बिहार में कोरोना के 349 नए मामले, वायरस से अब तक 11 हजार 456 लोग संक्रमित

पुलिस के मुताबिक, भगवानपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में कुछ मनचलों ने बुधवार देर शाम को एक किशोरी के साथ जबरदस्ती करने का प्रयास किया, जिसका किशोरी ने विरोध किया. आरोप है कि किशोरी द्वारा विरोध करने से गुस्साए बदमाश किशोरी और उसकी मां को उसके घर से उठा ले गए और उनकी जमकर पिटाई की. इसके बाद भी जब बदमाशों का मन नहीं भरा तो मां और बेटी का सिर मुंडवाकर गांव में घुमाया. Also Read - बिहार में फिर टूटा आसमानी बिजली का कहर, 15 लोगों की मौत

भगवानपुर के थाना प्रभारी संजय कुमार ने गुरुवार को बताया कि पीड़िता के बयान पर भगवानपुर थाना में इस मामले पर एक प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है, जिसमें पांच लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है. उन्होंने बताया कि सभी आरोपी पीड़िता के गांव के ही रहने वाले हैं. एक गांव की पंचायत का एक वार्ड मेम्‍बर खुर्शीद भी है, जिसने नाई बुलाकर मां और बेटी के सिर मुड़ा दिए.इस घटना के बाद से गांव में तनाव का माहौल बना हुआ है.

संजय कुमार ने बताया कि पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और पूरे मामले की छानबीन की जा रही है.