पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुजफ्फरपुर जिले में चमकी बुखार (एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम) के कारण 121 बच्चों की मौत के मामले में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. मुख्यमंत्री ने चमकी बुखार से हुई इतने सारे बच्चों की मौतों पर अभी तक अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी है. मीडियाकर्मियों ने बार-बार उनसे इस मसले पर सवाल करने की कोशिश की, लेकिन नीतीश कुमार ने उन्हें नजरअंदाज कर दिया.

यहां एक कार्यक्रम में भाग लेने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश ने अपने वाहन पर जाते समय एक बार फिर मीडियाकर्मियों से कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार, राज्य में अभी भी बच्चे मर रहे हैं और इस बीमारी से प्रभावित होने वाले बच्चों के ताजा मामले भी सामने आ रहे हैं.

बिहार: मुजफ्फरपुर में तेजस्वी यादव के लापता होने के बैनर लगे, तलाशने वाले को 5100 रुपए का इनाम

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, मुजफ्फरपुर के राजकीय श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (एसकेएमसीएच) में अब तक 100 बच्चों की मौत हो गई है. इसके अलावा 16 बच्चों की केजरीवाल अस्पताल में और दो बच्चों की पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मौत हुई. मुजफ्फरपुर के एक वरिष्ठ स्वास्थ्य अधिकारी ने हालांकि गुरुवार को कहा था कि हालात अब सुधर रहे हैं.