नई दिल्‍ली: कांग्रेस नेता व पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू के अमृतसर में स्थित घर के बाहर बिहार की पुलिस बीते 18 जून से उनका इंतजार कर रहे थे, लेकिन वह नहीं मिले. इस पर पुलिस ने उनके घर के गेट पर एक नोटिस चिपका दिया है. Also Read - हनुमान बेनीवाल का सनसनीखेज आरोप: वसुंधरा राजे ने गहलोत के साथ मिलकर बचाई कांग्रेस सरकार, विधायकों को फोन किए

दरअसल, बिहार के कटिहार जिले में नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ 2019 की एक चुनावी रैली के दौरान दिए गए एक भाषण को लेकर केस दर्ज है. बिहार पुलिस ने कांग्रेस नेता के नहीं मिलने पर उनके अमृतसर के आवास नोटिस चिपकाया है ताकि बेल बांड के पेपर पर उनके हस्‍ताक्षर पाए जा सकें. Also Read - अयोग्य ठहराए जाने के नोटिस पर सचिन पायलट खेमे की मांग पूरी, राजस्थान हाईकोर्ट ने कहा- डबल बेंच ही करेगी सुनवाई

बिहार पुलिस बीते 18 जून से सिद्दू के आवास के सामने कई दिनों तक इंतजार किया. इसके बाद 21 जून को  बेल बॉड को लेकर नोटिस चिपकाया द‍िया. Also Read - इस पार्टी ने बदला इरादा, कहा- हम सचिन पायलट के साथ नहीं, जल्द ही अशोक गहलोत से मिलेंगे

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए सिद्दू कटिहार जिले के बारसोई में 16 अप्रैल 2019 को पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने अपना राजनीतिक भाषण दिया था. इसके बाद उनके खिलाफ लोगों की भावना भड़काने के आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया गया था. चुनावी सभा में मौजूद मजिस्ट्रेट ने बारसोई थाना में चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के लिए केस संख्या 93/19 के तहत मामला दर्ज कराया था.