नई दिल्‍ली: कांग्रेस नेता व पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू के अमृतसर में स्थित घर के बाहर बिहार की पुलिस बीते 18 जून से उनका इंतजार कर रहे थे, लेकिन वह नहीं मिले. इस पर पुलिस ने उनके घर के गेट पर एक नोटिस चिपका दिया है.Also Read - Goa Election 2022: गोवा में कांग्रेस, NCP और शिवसेना अलग-अलग लड़ेंगी चुनाव, गठबंधन पर नहीं बनी बात

दरअसल, बिहार के कटिहार जिले में नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ 2019 की एक चुनावी रैली के दौरान दिए गए एक भाषण को लेकर केस दर्ज है. बिहार पुलिस ने कांग्रेस नेता के नहीं मिलने पर उनके अमृतसर के आवास नोटिस चिपकाया है ताकि बेल बांड के पेपर पर उनके हस्‍ताक्षर पाए जा सकें. Also Read - Janta ka Mood: यूपी में किस पार्टी को कितनी सीटें? कौन जीत रहा, किसे मिलेगी हार! कैसा रह सकता है पार्टियों का वोट शेयर, जानें सभी बातें...

बिहार पुलिस बीते 18 जून से सिद्दू के आवास के सामने कई दिनों तक इंतजार किया. इसके बाद 21 जून को  बेल बॉड को लेकर नोटिस चिपकाया द‍िया. Also Read - Dhirendra Singh: 2011 में राहुल गांधी को बाइक पर बिठाकर आंदोलन कर रहे किसानों के गांव ले गए थे धीरेंद्र सिंह

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, लोकसभा चुनाव प्रचार के लिए सिद्दू कटिहार जिले के बारसोई में 16 अप्रैल 2019 को पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने अपना राजनीतिक भाषण दिया था. इसके बाद उनके खिलाफ लोगों की भावना भड़काने के आरोप लगाते हुए मामला दर्ज कराया गया था. चुनावी सभा में मौजूद मजिस्ट्रेट ने बारसोई थाना में चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के लिए केस संख्या 93/19 के तहत मामला दर्ज कराया था.