नई दिल्लीः रविवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह अध्यक्ष और ट्रस्टी बिल गेट्स से मुलाकात की. बिहार दौरे पर आए बिल गेट्स ने सीएम नीतीश कुमार से कई मुद्दों पर चर्चा की. सीएम के अलावा उपमुख्यमंत्री और स्वास्थ मंत्री से भी उन्होंने मुलाकात की.

बिल गेट्स ने बिहार में बच्चों के स्वास्थ और गरीबी के खिलाफ सरकार द्वारा उठाए गए कारगर प्रयासों की भी सराहना की. आपको बता दें कि मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन एक ऐसी संस्था है जो कि पिछले 20 साल से बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर दुनिया भर में जागरूकता फैलाने का काम कर रही है और इसी के साथ यह संस्था बच्चों के टीकाकरण में भी मदद करती है.

गेट्स ने सीएम नीतीश कुमार से कहा कि हमारी संस्था 20 सालों से काम कर ही है लेकिन इतने दिनों में मैने बहुत कम ऐसे स्थान देखें हैं जिन्होंने बिहार की तरह बच्चों के स्वास्थ पर ध्यान दिया हो. इस दौरान बिल गेट्स ने बिहार में गरीबी उन्मूलन की दिशा में हुए काम की सराहना की. साथ ही आगे भी बिहार को मदद जारी रखने की बात दोहराई. गौरतलब है कि चार साल के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिल गेट्स की मुलाकात हुई है.

मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिल गेट्स को राज्य में हुई प्रगति के बारे में बताया. साथ ही जलवायु परिवर्तन की वजह से आ रही समस्या पर चर्चा की. इसके अलावा सीएम ने जल जीवन हरियाली अभियान के बारे में भी बातचीत की.

बिल गेस्ट ने बिहार के सीएम से मिलने के बाद विप्रो के चेयरमैन रिशद प्रेमजी से भी मुलाकात की. प्रेमजी से मुलाकात के दौरान उन्होंने कहा कि हमें जलवायु परिवर्तन की चुनौतियों का सामना करने के लिए अपनी तकनीकी पर बदलाव करना होगा. प्रेमजी से उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री के की बातों का भी जिक्र किया.

उन्होंने कहा कि मैंने सिएटल, वाशिंगटन डीसी और पेरिस जैसी बड़ी जगहों पर जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर काम करने की बातें सुनी थी लेकिन जब मैंने बिहार के सीएम से जलवायु परिवर्तन को कम करने के रास्ते के बारे में सुना तो मुझे विश्वास नहीं हुआ कि इतने बड़े मुद्दे को बिहार में सुन रहा हूं.