उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी (Pushkar Singh Dhami) ने CDS जनरल बिपिन रावत (CDS General Bipin Rawat) के आकस्मिक निधन पर गहरा दुख जताया और प्रदेश में तीन दिवसीय राजकीय शोक की घोषणा की. जनरल रावत के निधन पर प्रदेश में 9 से 11 दिसंबर तक तीन दिनों का राजकीय शोक रहेगा. मुख्यमंत्री ने रावत के निधन को देश के लिए अपूरणीय क्षति बताया और कहा कि उत्तराखंड को अपने इस सपूत पर हमेशा गर्व रहेगा. शोक संदेश में धामी ने जनरल रावत, उनकी पत्नी मधुलिका तथा अन्य लोगों की मृत्यु पर गहरा दुख जताते हुए दिवंगत आत्माओं की शांति की प्रार्थना की. उन्होंने ईश्वर से शोक संतप्त परिजनों को यह दुख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की.Also Read - Zee Opinion Poll: उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार बनती है तो क्या आप बनेंगे मुख्यमंत्री? जानें हरीश रावत का जवाब...

Also Read - Janta Ka Mood: उत्तराखंड में किस जाति के मतदाता किस पार्टी की तरफ, मुस्लिम मतदाताओं का मत किसे?

धामी ने रावत के आकस्मिक निधन को देश के लिए अपूरणीय क्षति बताते हुए कहा कि देश की सुरक्षा में उन्होंने महान योगदान दिया है. उन्होंने कहा, ‘देश की सीमाओं की सुरक्षा एवं देश की रक्षा के लिए उनके द्वारा लिये गये साहसिक निर्णयों एवं सैन्य बलों के मनोबल को सदैव ऊंचा बनाये रखने के लिए उनके द्वारा दिये गये योगदान को देश सदैव याद रखेगा.’ Also Read - Zee Opinion Poll: पुष्कर सिंह धामी या हरीश रावत? उत्तराखंड में कौन है लोगों का सबसे पसंदीदा सीएम

उन्होंने कहा कि उनके आकस्मिक निधन से उत्तराखंड की बड़ी क्षति हुई है और हम सबको अपने इस महान सपूत पर सदैव गर्व रहेगा. दिवंगत जनरल रावत उत्तराखंड के पौडी जिले के सैणा गांव के रहने वाले थे.

(इनपुट: भाषा)