नई दिल्ली. त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लव देब ने घोषणा की है कि उनकी सरकार एक ऐसे स्कीम को लॉन्च करने जा रही है जो 5 हजार परिवार को गाय बांटेगी. इसके पीछे उनका तर्क है कि गाय आ जाने से परिवारों में कुपोषण की समस्या नहीं रह जाएगी और राज्य में रोजगार के अवसर बनेंगे. उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा है कि वह भी सीएम आवास में एक गाय पालें, जिससे दूसरे भी प्रोत्साहित होंगे.

त्रिपुरा प्रदेश कृषक मोर्चा की एग्जिक्यूटिव कमेटी की मीटिंग के बाद बिप्लव देब ने कहा, राज्य के 5 हजार किसानों को गाय खरीदने के लिए बैंक लोन दिए जाएंगे. इस लोन पर जो भी ब्याज आएगा, उसे राज्य सरकार वहन करेगी. इससे राज्य में दूध की भरपूर आपूर्ति होगी.

गाय का मतलब युवाओं के लिए रोजगार
इसके पहले बिप्लब ने कहा था कि गाय का मतलब है युवाओं के लिए रोजगार. उन्होंने कहा था कि बड़ी इंडस्ट्री बनाने से अच्छा है कि कोई 10 हजार करोड़ रुपये का निवेश करके 2 हजार लोगों को नौकरी दी जाए. 10 हजार गाय 5 हजार परिवार को देने से वह 6 महीने में कमाई करने लगेंगे.

दिसंबर में शुरू हो जाएगा प्रोजेक्ट
देब ने कहा है कि प्रोजेक्ट इस साल दिसंबर से शुरू हो जाएगा. काम पहले से शुरू हो चुका है और बस इसे कैबिनेट मंजूरी की जरूरत है. उन्होंने किसानों से अपील की है कि वह 3 साल में त्रिपुरो को एक बेहतर राज्य बनाने में सहयोग करें.
बीजेपी प्रवक्ता नबेंदू भट्टाचार्य ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री ने इस स्कीम के लिए गांव को चिन्हित करने की घोषणा की है.

पहले भी दे चुके हैं बयान
बता दें कि इस साल अप्रैल में बिप्लब ने ग्रेजुएट युवाओं से आह्वान किया था कि बेरोजगार रहने से अच्छा है कि एक गाय पालें. हर घर कम से कम एक गाय पाले. यहां दूध 50 रुपये लीटर बिक रहा है. ऐसे युवा जो 10 साल से नौकरी खोज रहे हैं गाय पाले होते तो आज उनका बैंक बैलेंस 10 लाख रुपये का होता.