अहमदाबाद: गुजरात सीआईडी की अपराध शाखा ने एक बिल्डर से जबरन बिटक्वाइन और नकदी वसूली के मामले में भूमिका को लेकर अमरेली के एसपी जगदीश पटेल को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया है. खास बात ये हैं कि इस मामले में आईपीएस के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की गई थी, लेकिन जब सीआईडी ने मामले की जांच शुरू की तो एसपी का नाम सामने आया. एक अधिकारी ने बताया कि सीआईडी की अपराध शाखा ने गांधीनगर स्थित एक पुलिस ऑफिस में दिनभर पूछताछ के बाद पटेल को गिरफ्तार कर लिया गया. बता दें कि इस मामले में पहले से ही एक पुलिस इंस्पेक्टर, दो कांस्टेबल अरेस्ट हो चुके हैैं.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पटेल को रविवार रात अमरेली जिला स्थित उनके आवास से हिरासत में लिया गया था. सीआईडी (क्राइम) के डीआईजी दीपांकर त्रिवेदी ने बताया, ”हमने पूछताछ के बाद आज ( सोमवार)  शाम अमरेली के एसपी जगदीश पटेल को गिरफ्तार कर लिया. हमने रविवार रात उन्हें अमरेली से हिरासत में लिया था.”

पहले एक पुलिस इंस्पेक्टर, दो कांस्टेबल
इस मामले में कुछ दिन पहले एक पुलिस इंस्पेक्टर, दो कांस्टेबल और एक संदिग्ध बिचौलिये को गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तार पुलिस इंस्पेक्टर अनंत पटेल पर सूरत के रहने वाले एक बिल्डर शैलेश भट से करोड़ों रुपए की कीमत के बिटक्वाइन और नकदी वसूलने का आरोप है. मामले में अनंत पटेल के अलावा 9 अन्य पुलिसकर्मी और एक बिचौलिये को आरोपी बनाया गया है.

 एफआईआर नहीं थी, जांच में सामने आया नाम
एफआईआर में पटेल का नाम शामिल नहीं था, लेकिन जांच के दौरान उनकी कथित संलिप्तता सामने आई. इसी बीच गुजरात के पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा ने अनन्त पटेल के निलंबन का आदेश दिया है. पटेल अभी सीआईडी-अपराध की हिरासत में है.

बिटक्वाइन और फिरौती के लिए अपहरण
सीआईडी अपराध शाखा ने भट को अगवा करने और डिजिटल करेंसी बिटक्वाइन और कुछ नगदी की फिरौती लेने के सिलसिले में 8 अप्रैल को अनंत पटेल और अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था.

होटल से हुआ था व्यापारी का अपहरण 
अनंत पटेल और अन्य लोगों के खिलाफ अपहरण, फिरौती, अवैध तरीके से हिरासत में रखने के संबंध में आईपीसी की संबंधित धाराओं और भ्रष्टाचार उन्मूलन अधिनियम के संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया था. अपनी शिकायत में भट ने 9 फरवरी को गांधीनगर के एक होटल से आरोपी पुलिसकर्मियों पर अपहरण करने का आरोप लगाया था. (इनपुट- एजेंसी)