नई दिल्ली. बिहार के मुख्यमंत्री और JDU सुप्रीमो नीतीश कुमार की पहल से राज्यसभा के डिप्टी चेयरमैन चुनाव की दौड़ में NDA के प्रत्याशी और JDU के नेता हरिवंश की राह आसान हो गई है. नीतीश कुमार और बीजू जनता दल (BJD) के प्रमुख व ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक के बीच हुई बातचीत के बाद यह लगभग तय हो गया है कि राज्यसभा के उपसभापति पद के चुनाव में हरिवंश ही जीतेंगे. हालांकि राज्यसभा में मतों का गणित देखते हुए विपक्ष भी अपना उम्मीदवार उतारेगा. कांग्रेस की तरफ बी.के. हरिप्रसाद को इस पद के लिए उम्मीदवार बनाए जाने की चर्चा है. एक दिन पहले भारतीय जनता पार्टी ने राजग के प्रत्याशी के पक्ष में सर्वसम्मति बनाने के लिए अन्य दलों से भी बातचीत की है. लेकिन अकाली दल और शिवसेना से मिले संकेतों को देखते हुए भाजपा चाहती है कि BJD भी हरिवंश के नाम पर समर्थन दे दे. हालांकि बीजद प्रमुख नवीन पटनायक के बारे में कहा जा रहा है कि वे आज यानी बुधवार को इस बारे में अपना आखिरी निर्णय देंगे. लेकिन नीतीश कुमार के साथ हुई बातचीत के बाद, हरिवंश की राह के रोड़े दूर होते नजर आ रहे हैं. इस बीच, राजग उम्मीदवार हरिवंश ने राज्यसभा के डिप्टी चेयरमैन पद के लिए आज अपना नामांकन दाखिल कर दिया है. Also Read - GHMC Election 2020: हैदराबाद में बोले अमित शाह- जीएचएमसी चुनाव में जीत होने के बाद हैदराबाद बनेगा आईटी केंद्र, खत्म होगी निजाम संस्कृति

हरिवंश के नाम पर आम सहमति बनाने की कोशिश में भाजपा

सीटों के गणित में पिछड़ रहा राजग

राज्यसभा के डिप्टी चेयरमैन पद के लिए होने वाले चुनाव में सीटों का गणित देखते हुए भाजपा के लिए विपक्षी दलों का समर्थन जरूरी है. अभी संसद के उच्च सदन में कुल 244 सदस्य हैं. डिप्टी चेयरमैन के चुनाव के समय अगर सभी सदस्य सदन में मौजूद रहें तो उम्मीदवार की जीत के लिे 123 सदस्यों के समर्थन की जरूरत होगी. भाजपा के पास राज्यसभा के 73 सदस्य हैं, वहीं कांग्रेस 50 सदस्यों के साथ दूसरे नंबर पर है. वहीं, भाजपा के सहयोगी दल- जदयू, शिवसेना और अकाली दल के पास क्रमशः 6 और 3-3 सदस्य हैं. बीजू जनता दल के 9 सदस्य हैं. इसके अलावा राजग को अन्नाद्रमुक के 13 और TRS के 6 सदस्यों का समर्थन मिलने की संभावना है. इसलिए राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के लिए जरूरी है कि कुछ विपक्षी पार्टियों के सदस्य भी इस चुनाव में उसके उम्मीदवार का समर्थन करें.

विपक्षी पार्टियां उम्‍मीदवार खड़ा करने को तैयार नहीं, अब कांग्रेस चुनेगी कैंडिडेट

पटनायक से अन्य नेताओं ने भी की बात

राज्यसभा के डिप्टी चेयरमैन पद के लिए होने वाले चुनाव में, ओडिशा के मुख्यमंत्री व BJD प्रमुख नवीन पटनायक का समर्थन कितना जरूरी है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले कुछ दिनों में भाजपा के कई वरिष्ठ नेताओं ने उनसे इस संबंध में बातचीत की है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने नवीन पटनायक के साथ इस मसले पर बातचीत की है. वहीं, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने दल के प्रत्याशी के समर्थन के लिए पटनायक का समर्थन मांगा है. इसके अलावा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार ने भी मामले पर नवीन पटनायक के साथ बात की है. डिप्टी चेयरमैन के चुनाव को लेकर बीजद के समर्थन के मामले पर पार्टी के एक प्रवक्ता ने कहा कि नवीन पटनायक इस मामले पर बुधवार को अपनी राय स्पष्ट करेंगे. इधर, बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने अपनी पार्टी के प्रत्याशी के समर्थन में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव से भी बातचीत की है.