नई दिल्ली: बीजू जनता दल के वरिष्ठ नेता और लोकसभा सदस्य लडू किशोर स्वैन का लंबी बीमारी के बाद एक निजी अस्पताल में निधन हो गया. वह 71 वर्ष के थे. पारिवारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी. स्वैन के परिवार में पत्नी, दो बेटे और एक बेटी हैं. सूत्रों ने बताया कि ओडिशा के अस्का लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले बीजद नेता किडनी की बीमारी से पीड़ित थे. मंगलवार रात उनका निधन हो गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और कई अन्य नेताओं ने स्वैन के निधन पर शोक व्यक्त किया है.

प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘ओडिशा के अस्का से लोकसभा सदस्य लडू किशोर स्वैन जी के निधन से दुखी हूं. समाज के प्रति उनके बहुमूल्य योगदान के लिए उन्हें हमेशा याद किया जाएगा. मोदी ने कहा, ‘ग्रामीण विकास के क्षेत्र में उनका काम उल्लेखनीय है. उनके बेटे नचिकेता से बात कर संवेदना व्यक्त की. पटनायक ने अपने शोक संदेश में स्वैन को एक सक्षम सांसद बताया है जो राज्य विधानसभा के सदस्य भी रह चुके हैं.

ओडिशा विधानसभा ने स्वैन के निधन पर शोक व्यक्त किया और कुछ पल का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि दी. स्वैन 2014 में अस्का लोकसभा क्षेत्र से बीजद उम्मीदवार के रूप में लोकसभा के लिए चुने गए थे. इससे पहले, वह 2004 में गंजाम जिले के कबीसुर्या नगर विधानसभा क्षेत्र से बीजद के टिकट पर राज्य विधानसभा के लिए निर्वाचित हुये थे.

सांसद लाडू किशोर स्वैन को श्रद्धांजलि देने के बाद बुधवार को लोकसभा की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई.लोकसभा की कार्यवाही आरंभ होने के बाद स्पीकर सुमित्रा महाजन ने स्वैन के निधन की जानकारी सदन को दी. इसके बाद सदस्यों ने कुछ पल का मौन रखकर अपने दिवंगत साथी को श्रद्धांजलि दी. इसके बाद सदन की कार्य़वाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गई. स्वैन ग्रामीण विकास और पिछड़ा वर्ग कल्याण संबंधी स्थायी समितियों के सदस्य थे.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने स्वैन के निधन पर शोक प्रकट किया. राष्ट्रपति ने अपने ट्वीट में कहा, ‘अस्का से लोकसभा सदस्य लाडू किशोर स्वैन के निधन की खबर सुनकर दुख हुआ. उन्होंने अनेक भूमिकाएं निभाते हुए समाजसेवा में उल्लेखनीय योगदान दिया. उनके परिवार, लोकसभा क्षेत्र के निवासियों और सहयोगियों के प्रति संवेदनाएं.