नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी ने बुधवार को 12 घंटे बंद का आह्वान किया है. पिछले गुरुवार को उत्तरी दिनाजपुर जिले के इस्लामपुर में पुलिस के साथ झड़प में दो छात्रों के मारे जाने की घटना के विरोध में बीजेपी ने बंद का आह्वान किया है. राज्य में बीजेपी ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया है. मिदनापुर में प्रदर्शनकारियों ने सरकारी बसों में तोड़फोड़ की और सड़कों पर टायर जलाए. कोच बेहर में कुछ सरकारी बसों में तोड़फोड़ के बाद ड्राइवर हेलमेट लगाकर बस चला रहे हैं. हावड़ा-बर्धमान मुख्य लाइन, पूर्वी रेलवे सियालदाह डिवीजन के सियालदाह-बरासत बोंगायन सेक्शन, सियालदाह-डायमंड हार्बर सेक्शन, और पूर्वी रेलवे हावड़ा डिवीजन पर बांदल कटवा अनुभाग पर ट्रेन सेवा प्रभावित हुई है. हावड़ा-बर्धमान मेन लाइन पर प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन को बाधित किया. बीजेपी के बुलाए गए बंद के दौरान प्रदर्शकारियों ने बसों में तोड़फोड़ की. ड्राइवर हेलमेट पहनकर बस चला रहे हैं. राज्य में सुरक्षा बढ़ा दी गई है.Also Read - प्रशांत किशोर ने कहा- BJP दशकों तक मजबूत रहेगी, नरेंद्र मोदी की ताकत समझें राहुल गांधी

Also Read - यूपी: BJP विधायक के साथ रहने वाले शख्स ने खुद को गोली मारी, स्कूल में ही मौत

भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने मंगलवार को कहा था कि सरकार से लोग परेशान हो चुके हैं. इस बंद में वह शांतिपूर्ण तरीके से शामिल होंगे. लेकिन अगर तृणमूल और उसके गुंडे बंद में गड़बड़ करने की कोशिश करेंगे तो इसके नतीजे से भुगतने होंगे. वहीं तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने आरोप लगाए कि भाजपा राज्य में विकास कार्यों को रोकना चाहती है. तृणमूल के महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि सरकारी बसें चलेंगी. उन्होंने व्यावसायिक प्रतिष्ठानों और निजी शिक्षण संस्थानों से आग्रह किया कि वे बुधवार को सामान्य रूप से अपनी गतिविधियां संचालित करें. विपक्षी कांग्रेस और माकपा ने इस्लामपुर में दो छात्रों की हत्या का विरोध कर रही हैं, लेकिन उन्होंने बंद का समर्थन नहीं किया. दोनों पार्टियां भाजपा और तृणमूल पर इस घटना पर राज्य में सांप्रदायिक ध्रुवीकरण कराने का आरोप लगाया है. Also Read - COVID Vaccination drive for Chhath Puja devotees: छठ व्रतियों के लिए खास टीकाकरण अभियान की शुरुआत

गौरतलब है कि कलकत्ता हाईकोर्ट ने ने बीजेपी को बुधवार को उसके पश्चिम बंगाल बंद को वापस लेने का निर्देश दिए जाने की मांग वाली जनहित याचिका पर मंगलवार को सुनवाई एक दिन के लिए टाल दी.कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश देबाशीष कर गुप्ता की अध्यक्षता वाली खंड पीठ ने यह सुनवाई इसलिए टाल दी क्योंकि दूसरे पक्ष के वकील एक वरिष्ठ वकील के निधन के चलते अदालत में उपस्थित नहीं हुए थे. वकालत भी करने वाले तृणमूल कांग्रेस के सांसद इदरीस अली ने अपनी याचिका में भाजपा द्वारा बुधवार सुबह छह बजे से बुलाए गए बंद के संबंध में निर्देश दिये जाने की अपील की.