चेन्नई: तमिलनाडु में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक और भाजपा के बीच आगामी लोकसभा चुनावों के लिए मंगलवार को गठबंधन हुआ, जिसके तहत बीजेपी राज्य में पांच सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगा. अन्नाद्रमुक के संयोजक और उपमुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम तथा केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता पीयूष गोयल ने महागठबंधन की घोषणा की. गोयल तमिलनाडु के लिए भाजपा के प्रभारी हैं. दोनों दलों के बीच दूसरे और अंतिम दौर की चर्चा के बाद यह घोषणा की गई. चर्चा में मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी भी शामिल थे. Also Read - Bihar Assembly Election 2020: भाजपा के मेनिफेस्टो पर मचा बवाल, तो BJP ने किया पलटवार

Also Read - बिहार में मुफ्त वैक्सीन बांटने के वादे पर राहुल गांधी का बीजेपी पर हमला, RJD बोली- इसमें भी चुनावी सौदेबाजी, छी-छी

इंटरनेशनल कोर्ट ने कुलभूषण जाधव केस की सुनवाई टालने की पाकिस्‍तान की अपील ठुकराई Also Read - Bihar Assembly Election: बिहार में कोरोना वैक्सीन मुफ्त बांटने के वादे से बवाल, बीजेपी के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत

बीजेपी के लिए ये गठबंधन दक्षिण भारत में बेहद महत्‍वपूर्ण है और लोकसभा चुनाव में उत्‍तर भारत में संभावित नुकसान की बड़ी भरपाई करने वाला साबित हो सकता है.

PM मोदी ने की जाति के आधार पर भेदभाव खत्‍म करने की अपील, जातिवाद को बढ़ावा देने वालों की हो पहचान

बीजेपी के पीयूष गोयल ने कहा, हम तमिलनाडु की 21 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव में एआईडीएमके का समर्थन करेंगे. हम राज्य में ओपीएस और ईपीएस के नेतृत्व में और केंद्र में मोदी जी के नेतृत्व में चुनाव लड़ने के लिए सहमत हुए हैं.

तमिलनाडु के डिप्टी सीएम ओ पन्नीरसेल्वम ने कहा, एआईएडीएमके और बीजेपी का लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन होगा, जो एक और मेगा जीतने वाला गठबंधन होगा.

पुलवामा अटैक: इमरान खान ने मांगा सबूत, कैप्टन अमरिंदर ने कहा-आतंकियों की लाशें पाकिस्तान भेज दें?

इससे पहले अन्नाद्रमुक ने पीएमके के साथ समझौता किया, जिसके तहत वेन्नियार की पार्टी को 40 में से सात सीटें दी गईं. केंद्र शासित क्षेत्र पुडुचेरी की सीट भी पीएमके के हिस्से में गई है. यह स्पष्ट नहीं है कि अन्नाद्रमुक कितने सीटों पर चुनाव लड़ेगी.