मुंबईः भाजपा नेता आशीष शेलार ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे( Uddhav Thackeray) से महाराष्ट्र में संशोधित नागरिकता अधिनियम(citizenship amendment bill) को तत्काल लागू करने की मांग की. शेलार ने मुख्यमंत्री को शुक्रवार को लिखे पत्र में कहा कि कांग्रेस नेता और मंत्री नितिन राउत द्वारा राज्य में कानून को लागू करने का विरोध किए जाने के बाद ठाकरे को इस मुद्दे पर अपनी सरकार की स्थिति साफ करनी चाहिए.

शेलार ने कहा कि संसद के दोनों सदनों ने ऐतिहासिक नागरिकता (संशोधन) विधेयक पारित किया है. इसे राष्ट्रपति की मंजूरी मिलने के बाद महाराष्ट्र में तत्काल लागू करना चाहिए. उन्होंने कानून को लागू करने का विरोध करने के लिए कांग्रेस की आलोचना की. दूसरी ओर कांग्रेस नेता संजय दत्त ने कहा कि भाजपा अंग्रेजों की तरह ‘बांटो और राज करो’ की नीति अपना रही है.

आपको बता दें नागरिकता संशोधन बिल को लेकर देश के कई राज्यों में खासा विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है. इस बिल का सबसे व्यापक विरोध असम में देखने को मिला. उत्तर पूर्व के कई राज्यों में विरोध प्रदर्शन की वजह से सेना की तैनाती की गई है. वहीं दूसरी तरफ कई राजनीतिक दल भी इस बिल का विरोध करते दिखाई दे रहे हैं. पश्चिम बंगाल, पंजाब, केरल, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 को असंवैधानिक बता चुके हैं.

इन सभी राज्यों के मुख्यमंत्री ने यह साफ तौर पर कहा है कि इस विधेयक को उनके राज्यों में नहीं लागू किया जाएगा. केंद्र सरकार ने नागरिकता संशोधन बिल के आने के बाद राज्यों से इसे तत्काल प्रभाव से लागू करने के लिए कहा था. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी(Mamata Banerjee) ने इस बिल के विरोध में कहा कि भाजपा किसी भी राज्य को इसे लागू करने के लिए बाध्य नहीं कर सकती.

आपको बता दें कि इस बिल के समर्थन लोकसभा में शिवसेना ने केंद्र सरकार के समर्थन में वोट दिया था लेकिन राज्य सभा में उसने अपना सेफ साइड रखा. शिवसेना ने उच्च सदन में न तो सरकार के पक्ष में वोट किया न ही विरोध में बल्कि वह वोटिंग के समय सदन से बाहर चली गई थी.