नोएडा: भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह ने कहा है कि पाकिस्तान में हर साल हजार-हजार लड़कियों का धर्म परिवर्तन होता है. नाबालिग हिंदू लड़कियां उठवा ली जाती हैं और बाद में कहा जाता है कि उन्होंने इस्लाम कुबूल कर निकाह कर लिया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में ऐसी घटनाओं पर अदालत भी कुछ नहीं करती. इस तरह से पिछले कई दशक से वहां हिंदू परिवारों के साथ अत्याचार होता चला आया है. अब मोदी सरकार ने ऐसे लोगों के जख्मों पर मरहम लगाने के लिए नागरिकता संशोधन कानून बनाया है. Also Read - Oxygen issue : बीजेपी ने पूछा, दिल्‍ली सरकार क्‍यों सोचती हैं कि केंद्र भेदभाव कर रहा है?

यहां नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) पर भाजपा के जनजागरण अभियान के सिलसिले में पहुंचे भाजपा महासचिव ने कहा कि कई बार यह कहा जा चुका है कि सीएए नागरिकता लेने का नहीं बल्कि देने का कानून है. पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक अत्याचार का शिकार होकर आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी, ईसाई अल्पसंख्यक परिवारों को इस कानून से नागरिकता मिलेगी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह की इस पहल की चारों ओर सराहना हो रही है. भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में हिंदू आदि अल्पसंख्यकों की जनसंख्या में भारी कमी से पता चलता है कि या तो वे भाग गए या हत्या हो गई या फिर उनका धर्मांतरण करा दिया गया. Also Read - Who is Himanta Biswa Sarma: पूर्वोत्तर के चाणक्य कहे जाते हैं हेमंत बिस्व सरमा, कभी कांग्रेस सरकार में थे मंत्री, आज बनेंगे असम के CM

पार्टी ने दिया विपक्ष के झूठ को बेनकाब करने का निर्देश
भाजपा महासचिव ने कहा कि पार्टी ने सभी केंद्रीय मंत्रियों, सांसदों-विधायकों व पदाधिकारियों को नागरिकता संशोधन कानून पर देश भर में जनजागरण कर विपक्ष के झूठ को बेनकाब करने का निर्देश दिया है. अरुण सिंह ने कहा कि यूपी में हिंसा के दौरान तमाम पुलिसवाले घायल हुए. इससे पता चलता है कि नागरिकता संशोधन कानून के बहाने हिंसा भड़काने की सुनियोजित साजिश हुई. Also Read - PSL की कमाई से Umar Akmal का जुर्माना भरेंगे भाई Kamran Akmal!