नई दिल्ली. सक्रिय राजनीति में कूदने की योजना बना रहे तमिल फिल्मों के अभिनेता कमल हासन के एक बयान से सत्ता के गलियारों में हलचल मच गई है. उन्होंने हिंदू चरमपंथ की आलोचना करते हुये दावा किया कि दक्षिणपंथी समूहों ने हिंसा का दामन इसलिये थामा क्योंकि उनकी पुरानी रणनीति ने काम करना बंद कर दिया है. वहीं कमल हासन के इस बयान से सत्ता के गलियारों में हलचल मच गई है. Also Read - Covid-19 पर सियासी जंग: केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने पूर्व पीएम मनमोहन पर किया पलटवार, पत्र ट्वीट कर कसा ये तंज

Kamal Haasan: You can’t say there is no Hindu terror | ऐसा नहीं कहा जा सकता कि हिंदू आतंकवाद का वजूद नहीं है: कमल हासन

Kamal Haasan: You can’t say there is no Hindu terror | ऐसा नहीं कहा जा सकता कि हिंदू आतंकवाद का वजूद नहीं है: कमल हासन

कमल हासन के इस बयान के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिंह राव ने गुरुवार को कमल हासन की तुलना लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद से कर दी. इसके साथ ही बीजेपी ने कमल हासन से अपने इस बयान पर माफी मांगने को कहा है. वहीं बीजेपी नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने हासन की आलोचना करते हुए उन्हें भ्रष्ट बताया. Also Read - जब ऑक्सीजन टैंकर की पूजा करने में लग गए बीजेपी नेता और मंत्री, कांग्रेस ने बोला हमला

बता दें कमल हासन ने तमिल पत्रिका आनंद विकटन के हालिया अंक में उन्होंने आरोप लगाया कि दक्षिण पंथी संगठनों ने अपने रूख में बदलाव किया है. हालांकि उन्होंने इसमें किसी का नाम नहीं लिया है. उन्होंने कहा, पूर्व में हिंदू दक्षिण पंथी दूसरे धर्म के लोगों के खिलाफ हिंसा में शामिल हुये बगैर, उनको अपनी दलीलों और जवाबी दलीलों से हिंसा के लिये मजबूर करते थे. Also Read - बीजेपी चलाएगी 'अपना बूथ, कोरोना मुक्त' अभियान, JP Nadda ने दिए निर्देश