नई दिल्ली: कांग्रेस के राज्यसभा सांसद बी.के.हरिप्रसाद ने बुधवार को कहा कि भाजपा मध्य प्रदेश में अपना ‘ऑपरेशन कमल’ आजमाने की कोशिश कर रही है, क्योंकि मध्यप्रदेश कांग्रेस के 20 बागी विधायक बेंगलुरू में हैं. कर्नाटक से राज्यसभा सांसद ने आरोप लगाया है कि भाजपा मध्य प्रदेश में सरकार गिराने की कोशिश कर रही है, क्योंकि वह ईवीएम नतीजों के दम पर सरकार बनाने में नाकाम रही थी और अब उसने मध्य प्रदेश में भी ‘ऑपरेशन कमल’ का सहारा लिया है. Also Read - VIDEO: Coronavirus Lockdown के बीच DIG रात में साइकिल पर निकले

हरिप्रसाद ने कहा, “बेंगलुरू ही वह जगह है, जहां ‘ऑपरेशन कमल’ नाम का जन्म हुआ. भाजपा 2008 से पूरे देश में ‘ऑपरेशन कमल’ को लागू करने की कोशिश कर रही है. जब वे ईवीएम नतीजों के दम पर सरकार बनाने में नाकाम रहे तो उन्होंने ‘ऑपरेशन कमल’ की कोशिश की. सरकार बनाने के लिए मप्र में भी यही किया जा रहा है.” Also Read - MP में कोरोना संक्रमित पाए गए दो IPS अधिकारी, दोनों को भेजा गया Isolation Center

‘ऑपरेशन कमल’ एक शब्द है, जिसका इस्तेमाल विरोधी पार्टियां भाजपा द्वारा दूसरे दलों के विधायकों को ‘अवैध तरीके से अपनी ओर लाने’ के लिए करती है. 20 से अधिक विधायकों द्वारा कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद राज्य में कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई है. जब उनसे पूछा गया कि क्या विधायक कांग्रेस में वापस आएंगे? हरिप्रसाद ने कहा कि राजनीति में बहुत कुछ हो सकता है. Also Read - मध्य प्रदेश में 'टोटल लॉकडाउन' के बाद लागू हुआ 'एस्मा', शिवराज सिंह चौहान ने दी जानकारी

इस बीच, पूर्व सांसद और केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस छोड़कर भाजपा जॉइन कर रहे हैं. हालांकि हरिप्रसाद ने कहा कि पार्टी में सिंधिया की अनदेखी नहीं हो रही थी. हरिप्रसाद ने आगे कहा, “देश में हमारी सरकार नहीं है और वह सांसद का चुनाव जीतने में विफल रहे, इसमें हम क्या कर सकते हैं.”