लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधा और कहा कि राज्य में बढ़ती हत्याओं के कारण भाजपा ने अब इसकी पहचान ‘हत्या प्रदेश’ के रूप में करा दी है. अखिलेश ने शुक्रवार को अपने बयान में कहा कि राजधानी लखनऊ सहित तमाम जनपदों में हत्या, लूट की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही हैं. कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बावजूद अपराधों पर कोई अंकुश नहीं लग रहा है. जनता बुरी तरह आतंकित है. भाजपा ने अब इसकी पहचान ‘हत्या प्रदेश’ के रूप में करा दी है. Also Read - 21 मई से उत्तर प्रदेश के सभी राशन कार्ड धारकों को मिलेगा मुफ्त राशन, नहीं दिया जाएगा चना

अखिलेश ने कहा कि विभिन्न जनपदों से केवल हत्या के ही आज दर्जन भर से ज्यादा समाचार मिले हैं. गाजियाबाद के निवाड़ी थाना क्षेत्र में डंडे से पीटकर एक युवक की निर्मम हत्या हो गई. सुल्तानपुर के कूरेभार थाना क्षेत्र के ग्राम भरथी में अधेड़ की गंडासे से काटकर हत्या कर दी गई. बरेली के लाइनपुर मठिया में रिटायर पुलिस कर्मी के बेटे की हत्या हो गई. मेरठ के उद्योगपुरम में फैक्ट्री चौकीदार की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. Also Read - Oxygen issue : बीजेपी ने पूछा, दिल्‍ली सरकार क्‍यों सोचती हैं कि केंद्र भेदभाव कर रहा है?

इनके अतिरिक्त श्रावस्ती के मल्हीपुर के तेंदुआ बरांव में युवक की गला रेतकर हत्या हुई. वाराणसी के चौबेपुर क्षेत्र के बलुआघाट में बदमाशों ने युवक की गोली मारकर हत्या कर दी. आजमगढ़ में एक महिला को घर में घुसकर गोली मार दी गई. राजधानी लखनऊ में मंडियाव क्षेत्र में एक महिला की गला दबाकर हत्या की गई, जबकि पारा क्षेत्र में एक अधेड़ को डंडों से पीट-पीटकर लहूलुहान कर दिया गया. Also Read - Who is Himanta Biswa Sarma: पूर्वोत्तर के चाणक्य कहे जाते हैं हेमंत बिस्व सरमा, कभी कांग्रेस सरकार में थे मंत्री, आज बनेंगे असम के CM

अखिलेश ने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा अपराधियों के जेल में होने या प्रदेश छोड़कर चले जाने के ऐलान की अब कोई न तो बात करता है और न ही उसका नोटिस लेता है. उनकी ‘ठोंक देंगे, बोली की जगह गोली’ जैसी बातें बेमानी साबित हो गई हैं.

(इनपुट आईएएनएस)