जम्मू: जम्मू कश्मीर के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष रविंदर रैना ने रविवार को कहा कि उनकी पार्टी संविधान के अनुच्छेदों 370 और 35 ए को जल्दी हटाने के पक्ष में है. रैना ने उम्मीद जतायी कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी अपने बलबूते अगली सरकार बनाएगी.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर के लोगों के साथ सबसे बड़ा अन्याय है, यह एक अस्थायी संक्रमणकालीन प्रावधान है जबकि 35ए सबसे बड़ी संवैधानिक गलती है जिसे संसद की सहमति के बगैर पिछले दरवाजे से जोड़ा गया था …. हम उम्मीद करते हैं कि इन दोनों संवैधानिक प्रावधानों को जल्दी हटाया जाएगा. अनुच्छेद 370 जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करता है और राज्य से संबंधित कानून बनाने के लिए संसद की शक्तियों को सीमित करता है.

भाजपा ने कई राज्यों में 50 फीसदी से अधिक मत हासिल किए, कांग्रेस सिर्फ राज्‍य में सिमटी

अनुच्छेद 370 ‘घृणा की दीवार’
नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने शुक्रवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संविधान के अनुच्छेदों 370 और 35ए को नहीं हटा सकते हैं. कश्मीर के राजनेताओं पर प्रदेश के लोगों को इन अनुच्छेदों पर ‘भ्रमित’ करने का आरोप लगाते हुए रैना ने कहा कि अनुच्छेद 370 ‘घृणा की दीवार’ है और कश्मीर की मौजूदा स्थिति के लिए यही जिम्मेदार है.

नरेन्द्र मोदी की सांसदों को नसीहत: छपास, दिखास से बचिये, बस मिठास रखिये