नई दिल्‍ली: कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार मंगलवार को देर शाम को विश्‍वास मत जीतने में नाकामयाब रही है. चार दिन से विश्‍वास मत की बहस के बाद बहु प्रतीक्षित विश्वास मत पर वोटिंग कराने के बाद एचडी कुमार स्‍वामी की सरकार गिर गई. इससे बीजेपी के खेमें में भारी खुशी, उत्‍साह और जश्‍न का माहौल है. भाजपा ने कहा है कि वह कर्नाटक में सरकार बनाने का दावा पेश करेगी. बीजेपी प्रदेश अध्‍यक्ष बीएस येदियुरप्‍पा अपनी पार्टी के विधायकों के साथ जीत की मुद्रा में नजर आए. कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार गिरने के बाद अब बीजेपी की ओर से सीएम पद के लिए येदियुरप्‍पा नए दावेदार हो सकते हैं. राज्‍यपाल उन्‍हें सरकार बनाने के लिए आमंत्र‍ित कर सकते हैं.

कर्नाटक: फ्लोर टेस्ट में फेल हुए कुमारस्वामी, गिरी कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार

कर्नाटक में बहु प्रतीक्षित विश्वास मत के लिए विधानसभा में वोटिंग का परिणाम सामने आते ही सरकार गिर गई. कांग्रेस जेडीएस के पक्ष में 99 जबकि बीजेपी के पक्ष में 105 वोट पड़े. 6 वोट से पीछे रहने के कारण सरकार अल्पमत में आ गई. कर्नाटक में करीब तीन हफ्ते से चल रहे राजनीतिक ड्रामे का अंत हो गया.

कर्नाटक में गहराते संकट के बीच बेंगलुरु में दो दिन के लिए धारा 144 लागू

विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार ने ऐलान किया कि 99 विधायकों ने प्रस्ताव के पक्ष में वोट दिया है, जबकि 105 सदस्यों ने इसके खिलाफ मत दिया है. इस प्रकार यह प्रस्ताव गिर गया. कांग्रेस-जद(एस) की सरकार विधानसभा में विश्वास मत हासिल करने में विफल रही. मुुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को संख्या बल का साथ नहीं मिला और उन्होंने विश्वास मत प्रस्ताव पर चार दिन की चर्चा के खत्म होने के बाद हार का सामना किया. विधानसभा में पिछले बृहस्पतिवार को उन्होंने विश्वास मत का प्रस्ताव पेश किया था.