नई दिल्‍ली: बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने हरियाणा विधानसभा चुनाव के रुझानों पर कहा कि हम अपनी बात जनता में ठीक ढंग से नहीं रख पाए. चुनाव प्रबंधन में कहीं न कहीं कमी रही गई. हवा में चुनाव नहीं होता है. थोड़ा मैनेजमेंट करना पड़ता है. हरियाणा में हमारी सरकार बनेगी. वहीं, राज्‍य में बीजेपी के उम्‍मीद के मुताबिक प्रदर्शन नहीं रहने पर प्रदेश अध्‍यक्ष सुभाष बराला ने अपने पद का इस्‍तीफा भेज दिया है. वह चुनाव की मतगणना में भी अपनी सीट से पीछे चल रहे हैं.

चुनाव परिणामों पर बीजेपी ने महासचिव कहा कि 370 नेशनल मुद्दा है ले‍किन केंद्र और  राज्य के मुद्दे अलग होते हैं. ये बात सही है कि केंद्र का कुछ असर पड़ता है पर राज्य के चुनाव अलग होते हैं और उप चुनाव तो पूरी तरह अलग और लोकल होते हैं. कुल मिलाकर महाराष्ट्र में परिणाम हमारे मुताबिक है, हरियाणा में थोड़ा सा अंतर है, लेकिन सरकार हमारी ही बनेगी.

विजयवर्गीय ने कहा कि खट्टर जी ने ईमानदारी से काम किया है, परिवारवाद और भाई भतीजावाद को दूर किया है, लेकिन कहीं न कहीं हम अपनी बात ठीक से नहीं रख सके, चुनाव में प्रबंधन बहुत मायने रखता है. इसमें कहीं न कहीं कमी हुई है. चुनाव के बाद इस पर चर्चा करेंगे.

हरियाणा में सरकार बनाएंगे, काफी इंडिपेंडेंट लोग हमारे समर्थक हैं, हमें विश्वास है कि स्वयं का बहुत आएगा. कोई खरीद फरोख्त नहीं करेंगे. जिसको बहुमत आएगा वो सरकार बनाएगी, चुनाव सिर्फ हवा में नहीं, थोड़ा मैनेजमेंट भी करना पड़ता है.

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 के गुरुवार को आए चुनावी रुझानों के बीच बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही अपनी- अपनी सरकार बनाने की कवायद में जुट गए हैं. बीजेपी के कार्यकार्य अध्‍यक्ष जेपी नड्डा मुख्‍यालय में हरियाणा में सरकार बनाने की संभावनाओं पर पार्टी के नेताओं के बीच बातचीत कर रहे हैं. हरियाणा बीजेपी के प्रभारी अनिल जैन भी पार्टी कार्यालय पहुंच चुके हैं. वहीं, कांग्रेस की कार्यकारी अध्‍यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी की सरकार बनाने के लिए पूर्व सीएम भूपेंदर सिंह हुड्डा को खुली छूट दी है.

बता दें कि हरियाणा की सभी सीटों के रुझान सामने आ चुके हैं. बताया जा रहा है कि कांग्रेस ने जेजीपी के नेता दुष्‍यंत चौटाला से बात की है. दुष्‍यंत चौटाला ने समर्थन के सवाल पर कहा है कि सभी चुनाव परिणाम आने के बाद पार्टी के नेताओं और विधायकों की मीटिंग में इस बात का फैसला किया जाएगा. JJP नेता दुष्यंत चौटाला ने कांग्रेस द्वारा सीएम पद ऑफर करने की खबरों पर कहा, ‘अभी मेरी किसी से कोई बात नहीं हुई. फाइनल आंकड़े आने पर ही फैसला लिया जाएगा.’

हरियाणा की 90 सीटों में 40 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है, वहीं कांग्रे 31 सीटों और अन्‍य 19 सीटों पर आगे है. दुष्‍यंत चौटाला की जेजेपी 10 सीटों पर आगे हैं. वहीं कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि बीजेपी को सत्‍ता से दूर रखने की कोशिश रहेगी.