नई दिल्ली: नागरिगता विधेयक के खिलाफ पिछले कई दिनों से पूरे देश भर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं. इस प्रदर्शन में छात्रों के साथ कई पेशेवर लोग, फिल्मी सितारें भी शामिल हैं. जब से इस प्रदर्शन का बिगुल बजा है तब से आरोप-प्रत्यारोप का खेल शुरू हो गया है. इसी सिलिसिले में अब भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने विपक्षी पार्टियों पर केंद्र सरकार को ‘अस्थिर’ करने के लिए संशोधित नागरिकता कानून को लेकर ‘झूठ और अफवाह’ फैलाने का आरोप लगाया जन सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने दावा किया कि विपक्षी पार्टी इस मुद्दे को ‘धार्मिक रंग’ दे रही हैजन सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने दावा किया कि विपक्षी पार्टी इस मुद्दे को ‘धार्मिक रंग’ दे रही है.

अवैध प्रवासियों के लिए एक डिटेंशन सेंटर असम में चल रहा है, कहीं और की जानकारी नहीं: अमित शाह

भाटी माइन्स क्षेत्र में संजय कालोनी में एक जन सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने दावा किया कि विपक्षी पार्टी इस मुद्दे को ‘धार्मिक रंग’ दे रही है और देश में ‘दंगे जैसी स्थिति’ पैदा करने की कोशिश कर रही है. दिल्ली भाजपा ने वरिष्ठ नेता को उद्धृत करते हुए एक बयान में कहा, ‘‘ जैसा कि यह कानून पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यक समुदाय को नागरिकता देने के लिए है लेकिन कई विपक्षी पार्टियां केंद्र सरकार को अस्थिर करने के लिए मुस्लिमों के बीच झूठ फैला रही हैं.’’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रामलीला मैदान में हुई रैली में इससे जुड़े हर संशय को दूर किया है. वहीं कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने हाल ही में ‘देश की एकता के लिए सत्याग्रह’ किया तथा इस मौके पर पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि देश की जनता मोदी को भारत माता की आवाज नहीं दबाने देगी.

सीएए का विरोध कर रहे लोगों पर अनावश्यक घातक बल प्रयोग न करें: ह्यूमन राइट्स वॉच

पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह तथा राहुल गांधी समेत पार्टी के शीर्ष नेताओं ने इस सत्याग्रह में भाग लिया. सत्याग्रह में शामिल नेताओं और कार्यकर्ताओं में जोश भरते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इस देश की जनता मोदी को संविधान पर आक्रमण और भारत माता की आवाज को दबाने नहीं देगी.