लखनऊ: बीएसपी सुप्रीमो मायावती पर विवादित टिप्पणी करने वाली यूपी की बीजेपी विधायक साधना सिंह ने आखिर बढ़ते हुए विवाद के बीच रविवार को अपने बयान पर खेद जाहिर किया है. एमएलए साधना सिंह ने बयान जारी करते हुए कहा कि मेरा किसी को अपमानित करने का इरादा नहीं था. मैं खेद व्यक्त करती हूं यदि किसी को मेरे शब्दों से चोट पहुंची हो.

VIDEO: बीजेपी MLA साधना सिंह ने मायावती को बताया किन्नर से भी बदतर, कहा- न महिला लगती हैं न पुरुष

विधायक साधना सिंह ने लिखित बयान में कहा, ”विगत में मेरे द्वारा दिए गए भाषण के दौरान मेरी मंशा किसी को अपमानित करने की नहीं थी, बल्कि मेरी मंशा सिर्फ और सिर्फ यही थी कि विगत 2 जून 1995 को गेस्ट हाउस कांड में बीजेपी ने जो मायावती जी की मदद की थी, उसे सिर्फ याद दिलाना था न कि उनका अपमान करना था. यदि मेरे शब्दों से किसी को कष्ट हुआ है तो मैं खेद प्रकट करती हूं.”

बता दें कि मुगलसराय क्षेत्र से भाजपा विधायक साधना सिंह ने चंदौली जिले के करणपुरा गांव में शनिवार को आयोजित किसान कुंभ कार्यक्रम में मायावती का ज़िक्र करते हुए कहा “हमको तो उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ना तो महिला लगती हैं और ना ही पुरुष. इन्हें तो अपना सम्मान ही समझ में नहीं आता. जिस महिला का इतना बड़ा चीर हरण हुआ हो, लेकिन कुर्सी पाने के लिए उसने अपने सारे सम्मान को बेच दिया. ऐसी महिला मायावती का हम इस कार्यक्रम के माध्यम से तिरस्कार करते हैं.”

बीजेपी की विधायक ने मायावती के खिलाफ अमर्यादित और अवांछनीय टिप्पणी की है: अठावले

एमएलए साधना सिंह ने कहा, ”वह महिला नारी जात पर कलंक है. जिस महिला की आबरू को भाजपा के नेताओं ने लुटते-लुटते बचाया, उसी ने सुख-सुविधा के लिए अपने वर्चस्व को बचाने के लिए अपमान को पी लिया. ऐसी महिला तो किन्नर से भी ज्यादा बदतर है. वह ना नर है, ना महिला है उसकी किस श्रेणी में गिनती करना है.”

समाजवादी और बहुजन समाज पार्टी ने बीजेपी की विधायक की बसपा सुप्रीमो पर आपत्तिजनक टिप्पणी की कड़ी निंदा की है. वहीं, दिल्ली में राष्ट्रीय महिला आयोग ने बसपा प्रमुख पर की गई टिप्पणी पर स्वत: संज्ञान लिया है. आयोग इस संबंध में सिंह को नोटिस जारी कर उनसे स्पष्टीकरण मांगेगा.

केंद्रीय मंत्री अठावले ने बीएसपी सुप्रीम मायावती पर बीजेपी एमएलए साधना सिंह की विवादित टिप्पणी पर नाराजगी जताते हुए कहा, ”हमारी पार्टी बीजेपी के साथ है, लेकिन हम मायावती के खिलाफ ऐसी अपमानजनक टिप्पणी के साथ नहीं. वह हमारे दलित समुदाय की एक मजबूत महिला और एक अच्छी प्रशासक है. अगर मेरी पार्टी में किसी ने ऐसा किया होता तो उसके खिलाफ जरूर कड़ा कदम उठाता.” उन्होंने कहा कि भाजपा विधायक साधना सिंह ने बसपा अध्यक्ष मायावती के खिलाफ जो टिप्पणी की है, वह गैर जिम्मेदाराना, अमर्यादित और अवांछनीय है.